अगले 48 घंटे में फिर आ सकता है खरतनाक तूफान , अबतक 114 लोगों की मौत

अगले 48 घंटे में फिर आ सकता है खरतनाक तूफान , अबतक 114 लोगों की मौत

अगले 48 घंटे में तूफान दोबारा लौट सकता है। मौसम विभाग ने कहा चक्रवाती परिसंचार तंत्र राजस्थान और उत्तर प्रदेश के में एकबार फिर तूफान के संकेत दे रहा।

नई दिल्ली। उत्तर भारत में बुधवार शाम को आए आंधी- तूफान ने कई राज्यों में भाई तबाही मचाई है। इस बवंडर में अबतक 114 लोगों के मारे जाने की खबर है। जबकि ढाई सौ से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। मौसम विभाग ने इस भीषण तबाही के बाद एक और अलर्ट जारी किया है। आशंका है कि अगले 48 घंटे में तूफान दोबारा लौट सकता है। विभाग के मुताबिक चक्रवाती परिसंचार तंत्र राजस्थान और उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में एकबार फिर तूफान के संकेत दे रहा है। देर शाम तेज आंधी के बाद आए तूफान ने उत्तर प्रदेश के आगरा और राजस्थान के भरतपुर में जान-माल की भारी तबाही मचाई।

उत्तर प्रदेश-राजस्थान में फिर तूफान की आशंका
मौसम केंद्र लखनऊ के प्रभारी निदेशक जे.पी. गुप्ता के अनुसार, अगले 48 घंटों के दौरान पूर्वी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई जिलों के कुछ क्षेत्रों में तेज हवा और गरज के साथ बारिश हो सकती है। कुछ क्षेत्रों में ओला वृष्टि भी हो सकती है। वहीं जयपुर के मौसम वैज्ञानिक हिमांशु शर्मा के मुताबिक राजस्थान में आने वाले 48 घंटे तक आंधी का खतरा टला नहीं है। प्रदेश के कुछ हिस्सों में एकबार फिर तेज रेतीली आंधी आ सकती है।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी 'पढ़कर बोलते हैं भारत माता की जय', कांग्रेस प्रवक्ता ने ट्वीट किया वीडियो

यूपी में तूफान से 73 की मौत, 91 जख्मी
उत्तर प्रदेश में बुधवार को आए तूफान की वजह से अभी तक कम से कम 73 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 91 व्यक्ति घायल हुए हैं। पूरा प्रशासन प्रभावित इलाकों में राहत एवं बचाव कार्य में जुटा हुआ है। तूफान से नुकसान का आकलन अभी हो ही रहा था कि मौसम विभाग ने उप्र के कई जिलों में 5 मई को तूफान आने का अलर्ट जारी किया है। उप्र सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर बताया गया है कि उप्र में आए आंधी तूफान की वजह से अभी तक 73 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 91 लोग घायल हुए हैं। आंधी तूफान में कुल 134 पशु भी मारे गए हैं। राज्य सरकार की ओर से जारी बयान के मुताबिक, सबसे अधिक आगरा में 43 व्यक्तियों की मौत हुई है, जबकि 51 लोग घायल हुए हैं। बिजनौर में तीन बरेली में एक सहारनपुर में एक, पीलीभीत में एक व्यक्ति की मौत हुई है। इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया है कि अपने अपने जिलों में आंधी-तूफान और ओलावृष्टि में प्रभावित व्यक्तियों और उनके परिजनों को 24 घंटे के भीतर राहत पहुंचाने का निर्देश दिया है।

यह भी पढ़ें: जेटली मानहानि केस: कुमार विश्वास ने अरविंद केजरीवाल को बताया कायर सेनापति

राजस्थान में बवंडर से 39 लोगों की मौत
वहीं राजस्थान के जयपुर में इस बवंडर से 39 लोगों की मौत हो गई तथा दो सौ अधिक लोग घायल हो गए। राज्य के आपदा एवं राहत मंत्री गुलाब चंद कटारिया ने बताया कि सबसे अधिक 19 लोगों की भरतपुर में , 10 की अलवर तथा 10 लोगों की धौलपुर में मृत्यु हुई है। उन्होंने बताया कि धौलपुर में उत्तर प्रदेश के दो लोगों की और आगरा में राजस्थान के दो लोगों की मौत हुई है।

झारखंड-मप्र में ओले गिरने से चार की मौत
झारखंड की राजधानी रांची समेत राज्य के अधिकांश इलाकों में तेज हवाओं के साथ हुई हल्की बारिश के दौरान ओले गिरने से दो लोगों की मौत हो गई है। मौसम विभाग से आज यहां प्राप्त सूचना के अनुसार रांची के अलावा खूंटी, लोहरदगा, गुमला, रामगढ़, बोकारो, और धनबाद में हल्की वर्षा हुई है जिससे तापमान में थोड़ी कमी आई है। इधर, रांची में नगड़ी थाना क्षेत्र के गुटवा तालाब के पास कल शाम ओले गिरने से दो युवकों की मौत हो गई। जिला प्रशासन के अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे और मृतक परिवार को राज्य सरकार द्वारा चार-चार लाख रुपए की मुआवजा राशि परिजनों को देने का भरोसा दिलाया। वहीं ध्य प्रदेश के सतना जिले में तेज हवाओं के चलते दो लोगों की मृत्यु हो गई।

प्रकृति आपदा पर पीएम मोदी की नजर
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंवद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तूफान से मारे गए लोगों के प्रति शोक व्यक्त करते हुए घायलों के शीध्र स्वस्थ होने की कामना की है। मोदी ने अधिकारियों को राज्यों के साथ समन्वय बनाकर राहत एवं बचाव कार्य करने के निर्देश दिए हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया, मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान और झारखंड के सीएम रघुबर दास ने आज संबधित जिला प्रशासन को प्राकृतिक आपदा से प्रभावित परिवारों की सहायता करने और मृतकों के परिजनों को आर्थिक मदद देने के निर्देश दिए हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned