5.6 तीव्रता वाले भूकंप से हिला अंडमान, जमीन में 10 किलोमीटर की गहराई में था केंद्र

भूकंप में अभी तक किसी भी तरह की हानि के जानकारी सामने नहीं आई है।

नई दिल्‍ली। अंडमान द्वीप पर आज सुबह सुबह 8 बजकर 9 मिनट पर भूकंप के झटके महसूस किए गए। इस भूकंप की तीव्रता 5.6 मापी गई है। जानकारी के अनुसार भूकं के केन्द्र जमीन से 10 किलोमीटर गहराई में था। भूकंप में अभी तक किसी भी तरह की हानि के जानकारी सामने नहीं आई है।

31 जनवरी को लगे थी झटके

इससे पहले 31 जनवरी को हिंदू कुश क्षेत्र में आए भूकंप के झटके पूरे उत्तर भारत में महसूस किए गए थे। भूकंप से लोगों के बीच दशहत फैल गई थी, लेकिन इसका केंद्र जमीन के काफी नीचे होने से क्षेत्र में किसी भी तरह का जान-माल का नुकसान नहीं हुआ था। मौसम विभाग ने यह जानकारी दी। रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 6.2 आंकी गई थी। इस मध्यम स्तर के तीव्रता वाले भूकंप से जान-माल की काफी क्षति होने की संभावना थी, इसका केंद्र जमीन के काफी नीचे होने की वजह से संभावित खतरा हालांकि टल गया। भूकंप अफगानिस्तान-तजाकिस्तान सीमा पर अपराह्न् 12 बजकर 36 मिनट पर आया था और यह कुछ देर रहा था। भारतीय मौसम विभाग के भूकंप विज्ञान केंद्र के अनुसार, भकंप के झटके जम्मू एवं कश्मीर, उत्तरी राजस्थान, हरयाणा, पंजाब, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में महसूस किए गए लेकिन भूकंप का केंद्र जमीन के काफी नीचे रहने की वजह से जान-माल की हानि नहीं हुई थी।

 

असर कम हो गया

भूकंप विज्ञान केंद्र के निदेशक वी.के. गहलोत ने आईएएनएस से कहा था कि भूकंप का केंद्र जमीन से 190 किलोमीटर नीचे था, इसलिए क्षति की संभावना कम हो गई थी। लोगों ने भूकंप के झटके महसूस किए लेकिन यह क्षति करने के लिए काफी नहीं थे। उन्होंने कहा कि भूकंप का केंद्र जमीन से काफी नीचे रहने की वजह से जब तक भूकंप के झटके और ऊर्जा धरातल तक पहुंचते-पहुंचते कम हो जाते हैं। गहलोत के अनुसार भूकंप का केंद्र जितना गहरा होता है, लोग इसे उतने बड़े क्षेत्र में महसूस करते हैं, इसलिए भूकंप के झटके व्यापक स्तर पर महसूस किए गए और इस दौरान झटके का असर कम हो गया।

 

Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned