सुप्रीम कोर्ट में 21 दलों की याचिका पर चुनाव आयोग का विरोध, VVPAT और EVM मिलान का है मामला

  • चुनाव आयोग ने 21 दलों की याचिका पर विरोध जताया है
  • 21 विपक्षी दलों ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की थी याचिका
  • आयोग ने हलफनामे में दिया है जवाब

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने सुप्रीम कोर्ट को 21 विपक्षी दलों की ओर से 50 प्रतिशत ईवीएम वोटों का सत्‍यापन VVPAT पर्ची से कराए जाने को लेकर दायर याचिका पर जवाब दिया है। आयोग ने इस याचिका का विरोध किया है। आयोग ने इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा दायर किया है।

चुनाव आयोग का जवाब

इस हलफनामे में आयोग ने कहा है कि ईवीएम के साथ मिलान करने के लिए वीवीपैट की संख्या बढ़ाने की कोई आवश्यकता नहीं है। आपको बता दें कि 21 विपक्षी दलों ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाते हुए यह मांग रखी थी कि आगामी लोकसभा चुनाव के नतीजों की घोषणा से पहले EVM के पर्चियों की VVPAT से मिलान और क्रॉसचेकिंग कराई जाए।

 

21 विपक्षी दलों ने दायर की थी याचिका

कुछ हफ्ते पहले सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर सुनवाई की और चुनाव आयोग को नोटिस जारी कर इस बारे में जवाब दाखिल करने को कहा था। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से इस मामले में सहायता करने के लिए एक विशेष अधिकारी अलग से नियुक्‍त करने को कहा था। शुक्रवार को आयोग ने इस बारे में अपना जवाब दाखिल किया है। आपको बता दें कि याचिका दायर करने के मामले में टीडीपी प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्‍यमंत्री एन चंद्राबाबू नायडू, आप के राष्‍ट्रीय संयोजक और दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल, कांग्रेस, राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, वामपंथी पार्टियां, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी सहित 21 विपक्षी दलों के प्रमुख नेता शामिल हैं।

election result
Show More
Shweta Singh Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned