9 नवंबर को हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव, पहली बार VVPAT का इस्तेमाल

prashant jha

Publish: Oct, 12 2017 04:27:50 (IST) | Updated: Oct, 12 2017 04:41:21 (IST)

Miscellenous India
9 नवंबर को हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव, पहली बार VVPAT का इस्तेमाल

VVPAT का इस्तेमाल किया जाएगा। इस तकनीक का इस्तेमाल पहली बार किसी राज्य में होने जा रहा है।

नई दिल्ली: हिमाचल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव को चुनाव आय़ोग ने तारीखों का ऐलान कर दिया है। 9 नवंबर को मतदान किया जाएगा। वहीं 18 दिसबंर को मतगणना की जाएगी। 16 अक्टूबर से नामांकन दाखिल करने की तारीख दी गई है। सभी पोलिंग स्टेशन ग्राउंड फ्लोर पर होंगे। फोटो वोटर आईडी का इस्तेमाल किया जाएगा। विधानसभा चुनाव में 7521 पोलिंग स्टेशन हैं। चुनाव आयोग ने गुजरात विधानसभा चुनाव की आज घोषणा नहीं की है। बता दें कि सभी पोलिंग स्टेशन पर VVPAT का इस्तेमाल किया जाएगा। इस तकनीक का इस्तेमाल पहली बार किसी राज्य में होने जा रहा है। इसके तहत हर मशीन से वोट देने के बाद पर्ची निकलेगी। साथ ही सभी रैली और प्रदर्शन की वीडियोग्राफी भी होगी।

#Watch live : EC press conference on Gujarat and Himachal Pradesh elections. https://t.co/4zBw3NYGdw— ANI (@ANI) 12 October 2017

आचार संहिता लागू

चुनाव आयोग ने कहा कि हलफनामा नहीं भरने पर नोटिस जारी किया जाएगा। आयोग ने बताया कि हर उम्मीदवार को सभी कॉलम भरने अनिवार्य हैं। गौरतलब है कि चुनाव की तारीख की घोषणा होने के बाद प्रदेश में आचार संहिता लागू हो गई है।

जनवरी 2018 में खत्म हो रहा है कार्यकाल

आपको बता दें कि इतना तो तय है कि अगले 2 महीने में इन 2 राज्यों में चुनाव हो सकते हैं, क्योंकी दोनों ही राज्यों में विधानसभा का कार्यकाल जनवरी 2018 को खत्म हो रहा है। हिमाचल प्रदेश में मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल 7 जनवरी, 2018 और गुजरात में 22, जनवरी 2018 को खत्म होना है।हिमाचल विधानसभा का गणित हिमाचल प्रदेश में विधानसभा की 68 और गुजरात में 182 सीटें हैं। हिमाचल प्रदेश में पिछले चुनाव चार नवंबर, 2012 को हुए थे। मतदान एक ही चरण में हुआ था।

उपचुनावों का भी एलान होने की संभावना

इसके अलावा चुनाव आयोग अजमेर , अलवर, फुलपुर और गोरखपुर की चार लोकसभा सीटों पर भी उप चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान कर सकता है। राजस्थान की अजमेर और अलवर सीट से रहे मौजूदा सांसदों की मृत्यु से दोनों सीटें खाली हो गई थी। वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर और उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य ने फुलपुर लोकसभा सीट छोड़ी थी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned