नमो टीवी पर चुनाव आयोग का नया निर्देश, मतदान से 48 घंटे पहले प्री-रिकॉर्डेड कंटेट न हो प्रसारित

नमो टीवी पर चुनाव आयोग का नया निर्देश, मतदान से 48 घंटे पहले प्री-रिकॉर्डेड कंटेट न हो प्रसारित

Shweta Singh | Publish: Apr, 17 2019 06:18:11 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 06:42:13 PM (IST) इंडिया की अन्‍य खबरें

  • चुनाव आयोग की ओर से 'नमो टीवी' पर नए दिशा-निर्देश
  • मतदान से 48 घंटे पहले सिर्फ लाइव कवरेज प्रसारण को अनुमति
  • राज्य के CEC को प्रसारण पर निगरानी रखने का आदेश

नई दिल्ली। चुनाव आयोग की ओर से 'नमो टीवी' को लेकर नए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। आयोग ने कहा है कि मतदान से 48 घंटे पहले 'नमो टीवी' पर लाइव कवरेज की जा सकती है, लेकिन प्री रिकॉर्डेड यानि पहले से ही रिकॉर्ड की सामाग्री नहीं प्रसारित की जा सकती है। इसके साथ ही आयोग ने साफ किया है कि राज्य के मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) प्रसारण पर कड़ी निगरानी रखेंगे।

आपको बता दें कि लॉन्चिंग के समय के कारण नमो टीवी शुरुआत से ही विवादों के घेरे में है। कई विपक्षी दलों ने इसके खिलाफ आयोग में शिकायत की थी। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन बताया था। विवाद बढ़ने के बाद आयोग ने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस संबंध में रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया था। इसके बाद खुलासा हुआ कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की वेबसाइट पर मौजूद अप्रूव्ड चैनलों की लिस्ट में इस चैनल का नाम तक नहीं है।

यह भी पढ़ें:- दिल्ली: पुरानी रंजिश के चलते दोस्तों ने ले ली जान, पुलिस स्टेशन से महज 800 मीटर दूर हुआ कत्ल, 4 गिरफ्तार

चुनाव तक रोक लगाने का हुआ था फैसला

इससे पहले अदालत ने पीएम मोदी की बायोपिक 'पीएम नरेंद्र मोदी' पर रोक लगाते हुए, नमो टीवी के प्रसारण को चुनाव तक रोकने का फैसला सुनाया था। इसके बाद बीते हफ्ते दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी ने भाजपा को बिना प्रमाण पत्र के किसी तरह के प्रसारण न करने का भी निर्देश दिया था।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned