Election Commission के फैसले से कांग्रेस नाराज, अदालत में चुनौती देने का लिया फैसला

 

  • चुनाव आयोग ने दी कमलनाथ को चेतावनी।
  • स्टार प्रचारक का दर्जा किया समाप्त।

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ लगातार मिल रही शिकायतों के बार भारतीय निर्वाचन आयोग ने उनकी स्टार प्रचारक का दर्जा समाप्त कर दिया है। चुनाव आयोग ने इसकी वजह कमलनाथ द्वारा बार—बार आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करना बताया है। पिछले कुछ दिनों के अंदर भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव आचार संहिता को लेकर कई बार कमलनाथ की शिकायत चुनाव आयोग से की थी।

जनसभा करने पर प्रत्याशी भरेंगे खर्चा

इसके साथ ही चुनाव आयोग ने बताया कि अगर अब कमल नाथ द्वारा कोई भी चुनावी जनसभा को संबोधित किया गया तो उस रैली का पूरा खर्च संबंधित उम्मीदवार द्वारा वहन किया जाएगा। यानि जिस प्रत्याशी के क्षेत्र में कमलनाथ प्रचार करेंगे उसी से आयोग खर्चा वसूला जाएगा।

3 नवंबर को 28 सीटों पर उप चुनाव

बता दें कि इन दिनों बिहार की तरह एमपी में भी चुनाव प्रचार चरम पर है। मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों पर उप चुनाव को लेकर प्रचार अंतिम चरण में है। कांग्रेस और बीजेपी के बीच चुनावी हार—जीत को लेकर सियासी घमासान मचा हुआ है।

चुनाव आयोग के फैसले से कांग्रेस नाराज

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का स्टार प्रचार का दर्जा समाप्त करने के फैसले से कांग्रेस पार्टी नाराज है। एमपी कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बताया है कि पार्टी इस फैसले को अदालत में चुनौती देगी।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned