अब दिल्ली की सड़कों पर उतरेंगी इलेक्ट्रॉनिक गाड़ियां, 42 रुपए में चलेंगी 100 किलोमीटर

बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए सरकार की बड़ी योजना की पूरी कहानी...

दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण का मामला गर्माया हुआ है। इसके लिए वाहनों से निकलने वाले धुएं को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। फिलवक्त भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक के साथ-साथ 13 से 17 नवंबर तक Odd-even फॉर्मूला लगाने की योजना है। बताते चलें, जुलाई 2016 में एक अहम फैसले में नेशनल ग्रीन ट्रायब्यूनल यानी NGT ने दिल्ली में 10 साल पुरानी डीजल गाड़ियों पर बैन के आदेश दिए थे। जबिक सरकार ने इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी।
एक खबर के अनुसार अब बढ़ते प्रदूषण की चुनौतियों को को देखते हुए सरकार ने 2030 तक इलेक्ट्रॉनिक गाड़ियों का लक्ष्य रखा है। अगले तीन से चार साल में डीजल और पेट्रोल से चलने वाले सरकारी वाहनों की जगह इलेक्ट्रिक गाड़ियां लाने की योजना है। इसके लिए सार्वजनिक क्षेत्र की ऊर्जा दक्षता सेवा लिमिटेड (ईईएसएल) 10,000 इलेक्ट्रिक कार खरीद रही है। इलेक्ट्रिक वाहनों को चलाने के लिए बैटरी चार्ज करानी होगी। माना जा रहा है कि चार्जिंग केंद्र लगाने में बिजली वितरण कंपनियों की अहम भूमिका होगी।

केंद्रीय परिवहन मंत्री भी चेता चुके हैं
बता दें, इससे पहले केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने पेट्रोल व डीजल जैसे पारंपरिक ईंधन से चलने वाले वाहन बनाने वाली कंपनियों से दो टूक कहा था कि वे वैकल्पिक र्इंधन अपनाएं अन्यथा परिणाम भुगतने को तैयार रहें। उन्होंने ये भी कहा था कि इलेक्ट्रिक वाहनों पर एक कैबिनेट नोट तैयार है, जिसमें चार्जिंग स्टेशनों पर ध्यान दिया जाएगा।


योजना पर चल रहा है काम
जानकारी के अनुसार अगर आप दिल्ली-एनसीआर में बिजली से चलने वाली गाड़ी लेते हैं तो उसके लिए आपको एक यूनिट का 5.50 रुपए देना होगा। दिल्ली विद्युत नियामक आयोग (डीईआरसी) ने इलेक्ट्रिक वाहनों की चार्जिंग के लिए 5.50 रुपए प्रति यूनिट की दर तय की है। राजधानी दिल्ली मे उत्तर और उत्तर-पश्चिम हिस्से में बिजली वितरण का काम देख रही टाटा पावर दिल्ली डिस्ट्रब्यिूशन लिमिटेड (टाटा पावर डीडीएल) के सीईओ प्रवीर सिन्हा के अनुसार इलेक्ट्रिक वाहनों की चार्जिंग के लिए जरूरी ढांचागत सुविधाएं तैयार की जा रही हैं। डीईआरसी ने इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करने के लिए 5.50 रुपए प्रति यूनिट का शुल्क तय किया है।

nitin gadkari
IMAGE CREDIT: google

गाड़ी 42 रुपए में चलेगी 100 किलोमीटर
प्रवीर सिन्हा के अनुसार एक गाड़ी को चार्ज करने में 6 से 8 यूनिट्स लगेंगी और इसके जरिए लगभग 100 किलोमीटर तक की यात्रा की जा सकती है। इस लिहाज से आपको 100 किलोमीटर चलने के लिए लगभग 33 से 42 रुपए खर्च करने होंगे जो पेट्रोल और डीजल के मुकाबले काफी कम हैं और पर्यावरण के अनुकूल भी।

electronic car
IMAGE CREDIT: google

पार्किंग में लगेंगे चार्जर
सिन्हा के अनुसार पार्किंग स्पेस, शापिंग मॉल, डीएमआरसी परिसरों में बैटरी चार्जिंग केंद्र लगाए जाएंगे। इसके लिए विभिन्न पक्षों के साथ बातचीत चल रही है। बैटरी चार्जिंग के लिए सबसे उपयुक्त जगह पार्किंग स्पेस है।

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने जो कहा था---
-भले ही आपको ये पसंद हो या न हो, मैं ऐसा करने जा रहा हूं। मैं पेट्रोल-डीज़ल से चलने वाली गाड़ियों का बैंड बजा दूंगा।
-हमारी सरकार प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए प्रतिबद्ध है। जल्द ही सरकार इलेक्ट्रॉनिक वाहनों पर नीति बनाएगी। इसके लिए कैबिनेट नोट भी तैयार किया जा रहा है। इलेक्ट्रिक कार चार्जिंग स्टेशनों की भी हम योजना बना रहे हैं।
-इस तरह से प्रदूषण भी कम होगा। यह सस्ता और प्रदूषण फ्री विकल्प है। मैं यह करने जा रहा हूं चाहे यह आपको पसंद हो या न हो। इसके लिए मैं आपसे कुछ पूछने वाला नहीं हूं। मेरा इरादा बहुत साफ है। इसलिए नम्रतापूर्वक निवेदन करना चाहता हूं कि आप रिसर्च करके बदलेंगे तो फायदे में रहेंगे और जो बदलने के बजाय सिर्फ ज्ञानार्जन करेंगे वो मुश्किल में आ जाएंगे।

Navyavesh Navrahi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned