EVM हैकिंग: EC की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने IPC की धारा 505 के तहत दर्ज किया मामला

EVM हैकिंग: EC की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने IPC की धारा 505 के तहत दर्ज किया मामला

Anil Kumar | Publish: Jan, 22 2019 05:13:31 PM (IST) | Updated: Jan, 23 2019 07:18:40 AM (IST) इंडिया की अन्‍य खबरें

चुनाव आयोग ने ईवीएम हैकिंग के मामले की गंभीरता को देखते हुए दिल्ली पुलिस को पत्र लिखा है जिसमें जांच की मांग की गई है।

नई दिल्ली। लंदन में सोमवार को ईवीएम हैक करने का एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था, जिसमें एक सैयद शूजा नाम के एक शख्स ने यह दावा किया था कि वह ईवीएम को लाइव हैकिंग करके दिखाएंगे। इसके बाद से भारत में सियासी हलचल शुरु हो गया। शूजा ने भारतीय चुनाव आयोग के साथ-साथ राजनीतिक दलों पर कई गंभीर आरोप लगाए। लेकिन चुनाव आयोग ने सिरे से सभी आरोपों को खारिज कर दिया। हालांकि अब चुनाव आयोग ने मामले की गंभीरता को देखते हुए दिल्ली पुलिस को पत्र लिखा है जिसमें जांच की मांग की गई है। बता दें कि चुनाव आयोग की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। दिल्ली पुलिस ने आईपीसी की धारा 505 के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस ने कहा है कि अब आगे की कार्रवाई कानून के आधार पर किया जाएगा।

शूजा ने लागाए हैं गंभीर आरोप

बता दें कि अमरीकी शख्स सैयद शूजा ने ईवीएम को हैकर करने का दावा किया था। इस बाबत लंदन में इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन (IJA) की तरफ से एक कार्यक्रम का आयोजित किया गया। शूजा ने सनसनीखेज आरोप लगाया था कि बीजेपी को ईवीएम हैकिंग में रिलायंस कम्यूनिकेशन से मदद मिलती है। इसके लिए कंपनी लो फ्रिक्वेंसी सिग्नल देती है। भारत में ऐसी 9 जगहें हैं जहां यह फैसिलिटी उपलब्ध है। आगे यह भी दावा किया कि ईवीएम को ट्रांसमीटर के जरिए बिना किसी ब्लूटूथ और वाईफाई के हैक किया जा सकता है। इसके लिए चिपसेट कर्नेल को बाइपास करना होता है। ईवीएम में काफी पुराना चिपसेट यूज किया जाता है। बता दें कि ईवीएम हैकिंग को लेकर हो रहे प्रेस-कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल की मौजूदगी को लेकर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।

ईवीएम को लेकर अखिलेश यादव ने फिर दिया बड़ा बयान, लोकसभा चुनाव से पहले गरमाई राजनीति

2014 के चुनाव में हुई थी धांधली

आपको बता दें कि लंदन इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन (IJA) की तरफ से आयोजित कॉन्फ्रेंस में सैयद शूजा नाम के एक टेक एक्सपर्ट ने यह दावा किया कि वह ईवीएम को हैक कर सकता है। उन्होंने कहा कि वे ईवीएम डिजाइन करने में शामिल थे। शूजा का दावा है कि भारत में 2014 के चुनाव में धांधली की गई थी। एक बड़ा खुलासा करते हुए उन्होंने कहा है कि भाजपा के दिग्गज नेता गोपीनाथ मुंडे को ईवीएम हैकिंग के बारे में पता था इसलिए उनकी हत्या कर दी गई। शूजा ने कहा कि मुंडे की हत्या के पीछे भाजपा के ही नेता का हाथ था। शूजा यह दावा कर रहे हैं कि वो इलेक्ट्रॉनिक्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड के पूर्व कर्मचारी भी रह चूके हैं। उन्होंने यह भी दावा किया है कि कई राजनीतिक दलों के नेताओं ने उनसे संपर्क किया ताकि वे यह जान सकें कि ईवीएम को कैसे हैक किया जा सकता है। आपको बता दें कि शूजा के तमाम दावों की पुष्टि हम नहीं कर रहे हैं। लेकिन उनकी कही इन बातों की सच्चाई क्या है यह साफ नहीं है और इसके बारे में आगे जांच की आवश्कता है।

EVM हैकिंग विवाद पर भाजपा का वार, कांग्रेस का यह प्रायोजित कार्यक्रम था- रविशंकर प्रसाद

'राजस्थान, एमपी और छत्तीसगढ़ में ईवीएम धांधली को रोका'

आपको बता दें कि अमरीकी शख्स शूजा खुद को भारतीय मूल का होने का दावा करता है। उन्होंने कहा कि भारत में हाल ही में हुए तीन राज्यों में चुनाव के दौरान भी ईवीएम को हैक करने का साजिश रची गई थी लेकिन कई पार्टियों ने उनसे संपर्क किया जिसके बाद उनकी एक टीम है जिसने इन राजस्थान, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश में ईवीएम में धांधली को रोका है। उन्होंने दावा किया कि दिल्ली के विधानसभा चुनाव के दौरान आम आदमी पार्टी ने उनसे संपर्क किया जिसके बाद ईवीएम हैकिंग रोकने का काम किया। यदि ऐसा नहीं करते तो भाजपा चुनाव जीतती। उन्होंने दावा किया कि आम आदमी पार्टी चाहती थी कि वो दुनिया को ईवीएम हैकिंग का डेमोंस्ट्रेशन दें।

ईवीएम हैकिंग का मुद्दा चुनाव आयोग के समक्ष उठाएंगे- ममता

चुनाव आयोग ने किया खंडन

आपको बता दें कि ईवीएम हैक करने का दावा करने की खबर सामने आने के बाद चुनाव आयोग ने एक बयान जारी किया है। अपने बयान में चुनाव आयोग ने कहा कि भारतीय चुनाव सिस्टम को बदनाम करने की एक कोशिश है। चुनाव आयोग की छवि को धूमिल करने की कोशिश की जा रही है। चुनाव आयोग ने कहा है कि ईवीएम पूरी तरह से सुरक्षित है, इसे हैक करना संभव नहीं है। अब तक ईवीएम को हैक करने की कोई खबर नहीं आई है और न हीं किसी ने हैक करके दिखाया है। चुनाव आयोग ने कहा है कि जिस भी शख्स ने यह दावा किया है और आयोग के छवि को धूमिल करने का प्रयास किया है उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई संभव है।

EVM पर दुष्‍प्रचार करने वालों के खिलाफ एक्‍शन लेगा चुनाव आयोग, कानूनी पहलुओं पर मंथन जारी

कपिल सिब्बल की सफाई

आपको बता दें कि लंदन में ईवीएम हैकिंग के कार्यक्रम में मौजूद रहने पर मचे बवाल पर कपिल सिब्बल ने अपनी सफाई दी है। सिब्बल ने कहा कि वे निजी का से लंदन गए थे। इस दौरान उन्हें आमंत्रित किया गया तो वे चले गए। कार्यक्रम को आयोजित करने वाले आयोजक आशीष रे ने उन्हें मेल कर आमंत्रित किया था। वे आशीष रे को बहुत अच्छी तरह से जानते हैं। शूजा ने बताया कि वे ECIL में काम कर चुके हैं। हालांकि ECIL ने शूजा के आरोपों को खारिज कर दिया है और उनकी डिग्री पर भी सवाल उठाया है। सिब्बल ने कहा कि ईवीएम का मुद्दा देश से जुड़ा हुआ है। इसलिए इसपर बहस होना चाहिए।

 

Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned