फेसबुक ने यूजर्स से मांगे न्यूड फोटो, वजह जानकर रह जाएंगे हैरान!

यूजर्स द्वारा भेजी गई तस्वीर को एफबी के कर्मचारी देख सकेंगे, यहां जाने क्या है पूरी कहानी...

सोशल मीडिया साइट फेसबुक ने अपने यूजर्स से कहा है कि वे अपनी न्यूड तस्वीरें फेसबुक को भेजें। यह कोई मजाक नहीं है, बिलकुल सच है। आइए आपको बताएं कि फेसबुक यूजर्स से उनकी न्यूड तस्वीरें क्यों मांग रहा है। दरअसल पूरी दुनिया से रिवेंज पोर्न की शिकायतें मिल रही हैं। लोग किसी से या अपने एक्स पार्टनर से बदला लेने के लिए उनकी न्यूड या अश्लील तस्वीरें एफबी पर शेयर कर देते हैं। कई बार दो पार्टनर एक-दूसरे की न्यूड तस्वीरें आपस में शेयर करते हैं। बाद में जब ब्रेकअप होता है तो उन्हें डर सताने लगता है कि कहीं उनका एक्स पार्टनर उन तस्वीरों को सार्वजनिक न कर दे। इसी को रोकने के लिए फेसबुक ने ऐसा कदम उठाया है।

रिवेंज पोर्न रोकने के लिए है ये प्रोजेक्ट
दरअसल, फेसबुक पर ‘रिवेंज पोर्न’ के मामलों को रोकने के लिए ये पायलट प्रोजेक्ट बनाया गया है। मामले की गंभीरता को समझते हुए फेसबुक फिलहाल इसकी टेस्टिंग कर रहा है। अक्सर देखा गया है कि पूर्व-बॉयफ्रेंड गर्लफ्रेंड से बदला लेने के लिए उसकी अश्लील तस्वीरें या वीडियो फेसबुक पर पोस्ट कर देता है। ऐसे पोस्ट को ‘रिवेंज पोर्न’ कहा जाता है।

कुछ ऐसा है ये प्रोजेक्ट
रिवेंज पोर्न जैसी घटनाओं को रोकने के लिए फेसबुक ने फिलहाल इस प्रोजेक्ट को आस्ट्रेलिया में लॉन्च किया है। वहां सफल होने के बाद इसे दुनिया के दूसरे हिस्सों में लागू किया जा सकता है। इस प्रोजेक्ट के लिए ही फेसबुक ने वहां के यूजर्स से उनकी न्यूड तस्वीरें मांगी हैं।

fb
IMAGE CREDIT: google

कैसे करेगा काम?
सुनने में ये भले ही अजीब लग रहा हो, लेकिन इन तस्वीरों की मदद से फेसबुक आपको ही सुरक्षित करेगा। दरअसल, फेसबुक यूजर्स द्वारा भेजी गई तस्वीर का खास टूल से डिजिटल फिंगरप्रिंट तैयार करेगा। इस डिजिटल फिंगरप्रिंट को एफबी अपने सिस्टम में अपलोड करेगा। ये सिस्टम उस हर तस्वीर को सोशल मीडिया पर शेयर होने से रोक देगा, जो इससे मिलती होगी। यानी आपकी तस्वीर सर्वजनिक नहीं होंगी। आपकी तस्वीर को एक निश्चित समय के लिए ही एफबी अपने सिस्टम में रखेगा, इसलिए यूजर्स को ज्यादा डरने की जरूरत नही है।

अस्ट्रेलिया की एजेंसी से मिलाया हाथ
जानकरी के अनुसार फेसबुक ने इसकी टेस्टिंग के लिए ऑस्ट्रेलियाई सरकारी एजेंसी से हाथ मिलाया है। जो यूजर्स इस टेस्टिंग में शामिल होंगे, वे ऑस्ट्रेलिया के ई-सेफ्टी कमिशनर से संपर्क करेंगे। वहां से यूजर्स से उसकी न्यूड तस्वीर मांगी जाएगी। ई-सेफ्टी कमिशनर जूली इनमैन ग्रांट के अनुसार भेजी जाने वाली तस्वीर एक तरह से खुद को ई-मेल करनी होगी। इतना ही नहीं यह तस्वीर भेजने का एंड-टु-एंड सिक्यॉर तरीका भी है। इसे केवल एफबी के कुछ कर्मचारी ही देख सकेंगे, जो इस प्रोजेक्ट से जुड़े होंगे।

क्या है रिवेंज पोर्न
सोशल मीडिया के फैलाव के साथ ही रिवेंज पोर्न जैसी टर्म सामने आई। इस तरीके का इस्तेमाल लोग उनके लिए करते हैं, जिनसे वे बदला लेना चाहते हैं। इस मामले में ज्यादातर एक्स पार्टनर से बदला लिया जाता है। सही कहें तो बदला लेने का ये सबसे घिनौना और घटिया रास्ता है। ये एक तरह का ऑनलाइन शोषण है, जिसमें सोशल साइट्स पर लोग अपने एक्स पार्टनर की निजी तस्वीरें या वीडियो शेयर कर देते हैं। कई बार संबंधित व्यक्ति खासकर लड़की की तस्वीर पोस्ट करके उसके नीचे उसका फोन नंबर पोस्ट कर दिया जाता है और उसे सेक्स वर्कर बता दिया जाता है। इसके बाद उस लड़की के फोन पर किस तरह के फोन और मैसेज जाते होंगे, आप अंदाजा लगा सकते हैं। रिवेंज पोर्न का मुख्य उद्देश्य एक्स पार्टनर की जिंदगी बर्बाद करना ही होता है।

Navyavesh Navrahi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned