Lockdown का नियम तोड़ना पर महंगा, वधावन ब्रदर्स समेत 23 के खिलाफ FIR दर्ज

  • Coronavirus को लेकर देश में 21 दिनों का लॉकडाउन
  • वधावन ब्रदर्स ने तोड़े लॉकडाउन ( Lockdown ) के नियम
  • पुलिस ने आईपीसी, डिजास्टर मैनेजमेंट और महामारी एक्ट के तहत की कार्रवाई

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( coronavirus ) को लेकर पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है। देश में अब तक 6 हजार से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं, जबकि 199 लोगों की मौत हो गई है। मामले की गंभीरता को देखते हुए अगामी 21 तक के लिए लॉकडाउन ( Lockdown ) कर दिया गया है। इसके बावजूद कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। वहीं, लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन भी धड़ल्ले से जारी है। इसी कड़ी में लॉकडाउन के नियम तोड़ने के आरोप में वधावन ब्रदर्स ( Wadhawan Brothers ) समेत 23 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की गई है।

जानकारी के मुताबिक, डीएफएचएल के प्रमोटर कपिल और धीरज वधावन लॉकडाउन के नियम को तोड़कर महाराष्ट्र के सतला स्थित महाबलेश्वर पहुंच गए। नियम तोड़ने के आरोप में वधावन ब्रदर्स के साथ-साथ 23 और लोगों के खिलाफ सभी पर आईपीसी, डिजास्टर मैनेजमेंट और महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। बताया जा रहा है कि कोरोना महामारी को लेकर पुणे और सतारा दोनों जिलों को सील किया गया है। इसके बावजूद वधावन परिवार के सदस्यों समेत कई लोगों ने बुधवार शाम अपनी कारों से खंडाला से महाबलेश्वर की यात्रा की।

गौरतलब है कि कपिल और धीरज वधावन यस बैंक और डीएफएचएल धोखाधड़ी मामलों में आरोपी हैं। पुलिस ने कहा कि नगर निगम के अधिकारियों ने उन्हें दीवान फार्म हाउस में देखा है। सभी 23 आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 188, 269, 270, 34 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। इससे पहले कपिल और धीरज वधावन को कोरोना पाबंदियों के उल्लंघन के आरोप में हिरासत में लिया गया था।

वहीं, इस मामले को लेकर भाजपा और शिवेसना के बीच राजनीति भी शुरू हो गई है। भाजपा के वरिष्ठ नेताकिरीट सोमैया ने लॉकडाउन जारी रहने के बावजूद डीएचएफएल के प्रमोटरों कपिल और धीरज वधावन को यात्रा की अनुमति देने के मामले में महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफे की मांग की है। उन्होंने कहा कि इस घटना के बाद गृह विभाग में प्रधान सचिव अमिताभ गुप्ता को अनिवार्य अवकाश पर भेजने की सरकार की कार्रवाई महज खानापूर्ति है। वहं, इससे पहले गृह मंत्री देशमुख ने घोषणा की थी कि वधावन परिवार के सदस्यों को सातारा जिले के लोकप्रिय हिल स्टेशन, महाबलेश्वर की यात्रा की अनुमति देने वाले गुप्ता को अनिवार्य छुट्टी पर भेज दिया गया है।

Show More
Kaushlendra Pathak Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned