COVID-19 के दौरान मेट्रो यात्रियों के लिए 'Aarogya Setu app' अनिवार्य, QR टिकट से होगा लिंक

  • COVID-19 के दौरान मेट्रो सर्विस ( Metro Service ) के नियम में बदलाव
  • मेट्रो यात्रों को 'aarogya setu app' डॉउनलोड करना अनिवार्य
  • कई और नियमों में हुए बड़े बदलाव

नई दिल्ली। पूरी दुनिया के साथ-साथ भारत भी कोरोना वायरस ( coronavirus ) से जूझ रहा है। इस खतरनाक वायरस के कारण 24 मार्च से देश में लॉकडाउन ( Lockdown 3.0 ) लागू है। लॉकडाउन के कारण देश में तकरीबन सभी चीजें बंद हैं। वहीं, अब धीरे-धीरे एक बार फिर से जीवन को पटरी पर लाने की कोशिश की जा रही है। इसी कड़ी में अगामी 18 मई से मेट्रो सेवा ( Metro Service ) शुरू करने की तैयारी हो रही है। इसे लेकर राज्य और केन्द्र सरकार ने सभी तैयारियां तकरीबन पूरी कर ली है। मेट्रो सेवा को लेकर केन्द्र ( Centre ) ने सभी राज्यों से कहा है कि यात्रियों के लिए आरोग्या सेतु एप ( Aarogya Setu app ) अनिवार्य किया जाए और QR बेस्ड टिकट को इस एप से लिंक किया जाए ताकि कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

जानकारी के मुताबिक, Ministry of Housing and Urban Affairs की ओर से सभी राज्यों को इस बाबत गाइडालाइ जारी कर दिया गया है। गाइडलाइन में कहा गया है कि मेट्रो यात्रियों के लिए आरोग्य सेतु एप अनिवार्य किया जाए, बिना इस एप के यात्रा की इजाजत न दी जाए। केन्द्र ने कहा है कि यात्रियों के लिए फेस मास्क पूरे यात्रा के दौरान अनिवार्य होगा। बिना मास्क और आरोग्य सेतु एप के जरिए यात्रा की इजाजत नहीं होगी। वहीं, यात्रियों को QR कोड टिकट दिया जाए और इसे आरोग्य सेतु एप से लिंक किया जाए ताकि सुरक्षित यात्री ही यात्र कर पाएं। वहीं, दिल्ली मेट्रो परिसर में फेस मास्क पहनना अनिवार्य होगा और स्टेशन पर प्रवेश और निकास के लिए अलग-अलग गेट होंगे।

रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली मेट्रो की एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर क्यूआर कोड टिकट को एक ऐप के माध्यम से बुक किया जा सकता है। भुगतान किए जाने के बाद ऐप QR कोड दिखाएगा। इस योजना से स्मार्ट कार्ड या टोकन का उपयोग करने की आवश्यकता कम हो जाएगा। केन्द्र का कहना है इसके बावजूद सभी राज्य स्थानीय स्थितियों के आधार पर अपना फैसला ले सकते हैं। दिल्ली मेट्रो के अधिकारी का कहना है कि फिलहाल, मेट्रो सफर के दौरान टोकन का सिस्टम नहीं होगा। वहीं, टिकट काउंटर को पूरी तरह कैशलेस बनाने की योजना है। वहीं, स्टेशन के अंदर-बाहर और मेट्रो के अंदर सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन करने के लिए पूरी तैयारी की गई है और ट्रेनों के खाली सीटों पर स्टिकर लगाया गया है।

coronavirus coronavirus cases COVID-19
Show More
Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned