केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी बोले- आर्थिक प्रगति के लिए विदेशी निवेश जरूरी

नितिन गडकरी ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में 29 प्रतिशत योगदान एमएसएमई का है और अब तक इससे 11 करोड़ रोजगार सृजित हुए हैं। उन्होंने कहा कि वे अगले कुछ साल में इससे पांच करोड़ और रोजगार सृजित करना चाहते हैं।

 

By: Prashant Jha

Published: 23 May 2020, 11:59 AM IST

इंडिया की अन्‍य खबरें

नई दिल्ली। केंद्रीय एमएसएमई और सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि एमएसएमई सेक्टर को दिए गए तीन लाख करोड़ के पैकेज से इनके पास नकदी की कमी दूर होगी। ये फिर से मशीन और कच्चा माल खरीदे सकेंगे, श्रमिकों को पैसा मिलेगा और सरकारों को राजस्व मिलेगा। नितिन गडकरी ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में 29 प्रतिशत योगदान एमएसएमई का है और अब तक इससे 11 करोड़ रोजगार सृजित हुए हैं।

उन्होंने कहा कि वे अगले कुछ साल में इससे पांच करोड़ और रोजगार सृजित करना चाहते हैं। इससे लोगों को गांवों में ही रोजगार मिल सकेगा। इन्होंने कहा कि विलेज इंडस्ट्री जो 88 हजार करोड़ की थी, इसे दो साल में 15 लाख करोड़ करने का लक्ष्य रखा है। गडकरी ने बताया कि टोल का इनकम साल के अंत तक 1 लाख करोड़ का होगा। 50 लाख करोड़ रुपए अगर भारतीय अर्थव्यवस्था में आ जाएगा तो इकॉनोमी का पहिया तेजी से घूमेगा। उन्होंने कहा ये सब तभी संभव है जब विदेश निवेश आए।

Indian economic survey 2020
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned