Pranab Mukharjee की Health को लेकर आर्मी अस्पताल ने जारी किया बुलेटिन, जानें 14 दिन बाद कैसी है सेहत

  • देश के Former President Pranab Mukharjee की सेहत में 14 दिन बाद भी नहीं हुआ सुधार
  • Delhi Army Hospital के डॉक्टरों ने कहा- अभी गंभीर कोमा में हैं पूर्व राष्ट्रपति
  • 10 अगस्त को हुई थी प्रणब मुखर्जी की Brain Surgery

नई दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति ( Former President ) प्रणब मुखर्जी ( Pranab Mukharjee ) की सेहत में अब भी कोई सुधार देखने को नहीं मिल रहा है। दिल्ली आर्मी अस्पताल ( Army Hospital )में पूर्व राष्ट्रपति की ब्रेन सर्जरी ( Brain Surgery ) को हुए 14 दिन बीत चुके हैं। लेकिन अब तक उनकी सेहत में कोई खास सुधार देखने को नहीं मिल रहा है। प्रणब मुखर्जी को अभी भी वेंटिलेटर पर ही रखा गया है।

सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल की ओर से जारी बुलेटिन में कहा गया है कि फिलहाल पूर्व राष्ट्रपति की हालत स्थिर बनी हुई है। उन्हें वेंटिलेटर के सपोर्ट पर ही रखा गया है।

मानसून को लेकर मौसम विभाग ने जारी किया सबसे बड़ा अलर्ट, देश के इन राज्यों में अगले कुछ घंटों में होगी जोरदार बारिश
दिल्ली कैंट स्थित आर्मी अस्पताल के मुताबिक प्रणब मुखर्जी की हालत में सुधार नहीं दिख रहा है। वह गहरे कोमा में हैं। उनके श्वसन संक्रमण का इलाज किया जा रहा है, लेकिन अब तक सुधार नहीं दिखा है। उनके जरूरी पैरामीटर स्थिर हैं और पूर्व राष्ट्रपति वेंटिलेटर सपोर्ट पर ही हैं।

आपको बता दें कि 10 अगस्त को पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को अस्पताल में भर्ती कर उनकी आपातकालीन ब्रेन सर्जरी की गई थी। उनके दिमाग में खून के थक्के जम रहे थे, जिन्हें तत्काल हटाना बहुत जरूरी था।

कोरोना के चलते फेफड़ों में संक्रमण
आपको बता दें कि ब्रेन सर्जरी से पहले हुई जांचों में कोरोना संक्रमण की भी पुष्टि हुई थी। हालांकि ये जानकारी खुद राष्ट्रपति ने ट्वीट के जरिए दी थी। डॉक्टरों ने बताया कि कोविड-19 की वजह से प्रणब मुखर्जी के फेफड़े संक्रमित हो गए हैं। ऐसे में उनका फेफड़ों के संक्रमण का भी इलाज किया जा रहा है।

84 वर्षीय पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की सेहत को लेकर दिल्ली छावनी स्थित आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में डॉक्टरों और एक्सपर्ट्स की एक टीम लगातार उन पर नजर रखे हुए हैं। आपको बता दें कि प्रणब मुखर्जी 2012 से 2017 तक देश के राष्ट्रपति रहे थे।

आपको बता दें कि इससे पहले प्रणब मुखर्जी को लेकर उनकी बेटी और कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी दो बार भावुक पोस्ट भी कर चुकी हैं। पहला पोस्ट करते हुए उन्होंने 8 अगस्त का जिक्र किया था। दरअसल 8 अगस्त 2019 में प्रणब मुखर्जी को देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से नवाजा गया था।

राहुल गांधी को लेकर अब कांग्रेस में मचा घमासान, उनके बयान के बाद उठे बवाल से की नेताओं की इस्तीफे की पेशकश

इस पल को याद करते हुए बेटी शर्मिष्ठा ने ट्वीट किया था। इसके बाद 15 अगस्त के दिन तिरंगा फहराने को लेकर भी शर्मिष्ठा ने एक पोस्ट किया और लिखा था कि मुझे उम्मीद है अगले वर्ष पिता जी जरूर तिरंगा फहराएंगे।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned