2006 में गोदारा हत्याकांड से चर्चा में आया था गैंगस्टर आनंदपाल

2006 में गोदारा हत्याकांड से चर्चा में आया था गैंगस्टर आनंदपाल

गैंगस्टर आनंदपाल सिंह 2006 में नागौर के डीडवाना में हुए जीवनराम गोदारा हत्याकांड के बाद चर्चा में आया

जयपुर. गैंगस्टर आनंदपाल सिंह 2006 में नागौर के डीडवाना में हुए जीवनराम गोदारा हत्याकांड के बाद चर्चा में आया । शराब व गैंगवार में चर्चा के आने के बाद आनंदपाल का गिरोह नागौर, सीकर, चूरू, व बीकानेर तथा अजमेर में अपनी जड़ें जमाने लगा था।

तीन वर्ष पहले बीकानेर में हुए गोलीकांड में आनंदपाल पर ही फायरिंग की गई थी, लेकिन उसके खास बलवीर बानूड़ा की मौत हो गई। इसके बाद से आनंदपाल ने जेल से भागने की साजिश भी रचना शुरू कर दिया था।

दो वर्ष पहले भागा था पेशी के दौरान
नागौर के कुचामन के पास पेशी के दौरान पुलिसकर्मियों को नशीली मिठाई खिलाकर आनंदपाल अपने साथियों के साथ नागौर के कुचामन से फरार हो गया था। आनंदपाल के साथ ही उसके साथी सुभाष व श्रीवल्लभ भी फरार हुए थे, जिनको पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। लंबे समय से एसओजी व नागौर पुलिस ने आनंदपाल गिरोह पर नजर रखी हुई थी।
खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned