WhatsApp पर लिखा ये दर्दनाक स्टेटस, और मौत को लगा लिया गले

amit sharma

Publish: Oct, 13 2017 09:10:10 AM (IST) | Updated: Oct, 13 2017 09:17:48 AM (IST)

इंडिया की अन्‍य खबरें
WhatsApp पर लिखा ये दर्दनाक स्टेटस, और मौत को लगा लिया गले

इंजीनियरिंग फाइनल ईयर की छात्रा ने फांसी लगाने के पहले खुद को बताया बेहद दुखी

तेलंगाना. 'आजकल मैं खुश होने से भी डरती हूँ. मैं नहीं जानती कि लोग मुझे खुश क्यों नहीं देख सकते. मेरी ज़िंदगी का हर क्षण लगातार बहुत बुरा होता जा रहा है.' ये साईं दुर्गा मोनिका का व्हाट्सप्प स्टेटस था, जो उन्होंने बुधवार को मौत को गले लगाने के पहले अपडेट किया था.
दुर्गा की मां ने बताया कि दुर्गा बहुत इमोशनल थी. छोटी-छोटी बातों पर ज़िद करने लगती थी. अपनी छोटी सी मांग के भी न पूरा होने पर वह जान देने की धमकी देने लगती थी. फांसी लगाने के पहले भी घर पर एक छोटा सा विवाद हुआ था. वह अंगूठी और चेन लेना चाहती थी. लेकिन मैंने इसके लिए उसे चेतावनी दी थी. मैं अभी उसके लिए ये खरीदने की स्थिति में नहीं थी. लेकिन मां की ये चेतावनी दुर्गा को बेहद बुरी लगी. जब मां और उसका छोटा भाई बाजार के लिए चले गए, तब दुर्गा ने मौत को गले लगा लिया.
जब मां वापस घर आयी तब उन्होंने दुर्गा को पंखे से झूलता हुआ पाया. आनन-फानन में वो दुर्गा को पास के एक अस्पताल ले गयी जहाँ डॉक्टरों ने उसे मृत लाया हुआ घोषित कर दिया.

‘गांधी की हत्या के लिए गोडसे को किसने भड़काया’

सिर्फ 19 साल की दुर्गा इंजीनियरिंग की फाइनल ईयर की छात्रा थी. वो एक होनहार स्टूडेंट थी. पढ़ाई के मामले में वो अपने सहपाठी छात्रों के बीच हमेशा अव्वल रहती थी. अपनी मां और अपने भाई के साथ अपने मामा के घर पर रहती थी क्योंकि उसके पिता कई साल पहले उनकी मां से अलग हो गए थे. आशंका है कि पिता से अलग होने के कारण भी उसके दिमाग पर डिप्रेशन की भावना भारी पड़ गयी होगी.

आरुषि हत्याकांड के जैसे ही इन हत्याओं के रहस्य से भी कभी नहीं उठा पर्दा

पुलिस अधिकारी ने कहा

डुंडीगल थाने के पुलिस अधिकारी एम. पवन ने बताया कि प्राथमिक दृष्टि में ये एक आत्महत्या का ही मामला लग रहा है. लेकिन पुलिस हर कोण से जांच कर रही है. दुर्गा का मोबाइल और लैपटॉप कब्जे में ले लिया गया है और उसके सोशल मीडिया स्टेटस की जाँच की जायेगी. जिससे ये बात साफ़ हो सकेगी कि उसकी मौत के पीछे असली वजह क्या थी.

Ad Block is Banned