Railways का पश्चिम बंगाल के लोगों को तोहफा! कल से दोबारा दौड़ेंगी 696 Sub-urban Trains

  • Sub Urban Trains Re-run : राज्य सरकार से विचार-विमर्श के बाद रेलवे ने उठाया ये कदम
  • यात्रियों की सुरक्षा का रखा जाएगा ध्यान, नियमों का पालन होगा जरूरी

By: Soma Roy

Published: 10 Nov 2020, 03:09 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना काल के दौरान काफी अरसे तक रेल के पहिये थमे हुए थे। बाद में आवागमन को दुरुस्त करने के लिए स्पेशल ट्रेनों को चलाया गया। हालांकि संक्रमण के खतरे को देखते हुए सब अर्बन ट्रेनों पर रोक जारी रखी गई, लेकिन दिवाली और छठ जैसे बड़े त्योहारों से पहले रेलवे (Indian Railways) ने पश्चिम बंगाल (West Bengal) के लोगों को खुशियों-भरी सौगात दी है। दरअसल रेलवे ने लोगों के लिए सफर को आसान बनाने के मकसद से दोबारा सब अर्बन ट्रेनों (Sub Urban Trains) को चलाए जाने की मंजूरी दे दी है। कल यानी 11 नवंबर से पश्चिम बंगाल में 696 सब-अर्बन ट्रेनें चलाने की शुरुआत की जाएगी।

मालूम हो कि इन सभी ट्रेनों का संचालन कोरोना संक्रमण के चलते बंद था। चूंकि लोकल ट्रेनों में सफर करने वालों की तादाद ज्यादा होती है, इसलिए रेलवे कोई रिस्क नहीं लेना चाहती थी। अब चीजों के सामान्य होने पर ऐसी ट्रेनों को दोबारा चलाया जा रहा है। सब-अर्बन ट्रेनों को चलाने की मंजूरी राज्य सरकार के साथ चर्चा के बाद दी गई है। रेल मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने इस सिलसिले में ट्वीट भी किया। उन्होंने लिखा कि रेलवे पूरे सुरक्षा उपायों के साथ ये ट्रेनें चलाएगा, इससे मुसाफिरों को बेहतर सुविधा मिलेगी।

मुंबई में भी शुरू की गई लोकल ट्रेनें
पश्चिम बंगाल से पहले रेलवे ने महाराष्ट्र में भी सब अर्बन ट्रेनों को चलाए जाने की मंजूरी दी थी। मुंबई में लोकल ट्रेनों को यहां की धड़कन माना जाता है। ज्यादातर आबादी ऐसी ट्रेनों पर आश्रित है। उन्हें कामकाज में आने—जाने में दिक्कत हो रही थी, इसी के चलते 1 नवंबर से यहां ट्रेनों का दोबारा संचालन शुरू किया गया। पहले 610 सब अर्बन ट्रेनें चलाई गईं। बाद में इनकी संख्या में इजाफा किया गया। वर्तमान में मुंबई में अब कुल लोकल ट्रेनों की संख्या बढ़कर 2020 है।

Show More
Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned