गुजरात से उत्तरभारतीयों के पलायन मामले में नया मोड़, संबंध सुधारने के लिए पुलिस की अनूठी पहल

गुजरात से उत्तरभारतीयों के पलायन मामले में नया मोड़, संबंध सुधारने के लिए पुलिस की अनूठी पहल

Dhiraj Kumar Sharma | Publish: Oct, 14 2018 12:24:18 PM (IST) | Updated: Oct, 14 2018 12:24:19 PM (IST) इंडिया की अन्‍य खबरें

गुजरात से उत्तरभारतीयों के पलायन मामले में नया मोड़, संबंध सुधारने के लिए पुलिस की अनूठी पहल

नई दिल्ली। गुजरात में उत्तरभारतीयों पर होने वाले हमलों के बाद लगातार बिगड़ रहे हालातों के बीच पुलिस ने स्थिति को काबू करने के लिए अनोखा तरीका अपनाया है। हमले के बाद गैर गुजरातियों का हो रहा पलायन प्रदेश सरकार और प्रशासन के लिए चुनौती बना हुआ है। ऐसे में पुलिस गैर गुजरातियों के साथ अपने संबंधों को सुधारने में जुटी है। आपको बता दें कि साबरकांठा जिले में 28 सितंबर को बच्ची से बलात्कार के आरोप में बिहार के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया था जिसके बाद गैर गुजरातियों को निशाना बनाया गया। हमलों के बाद हिंदी भाषी कामगार गुजरात से जाने लगे।

दरअसल मुख्य सचिव जे एन सिंह ने प्रभावित जिलों के कलेक्टरों को हिंदी भाषी लोगों के पास जाकर उनमें भरोसा कायम करने के निर्देश दिए हैं। इसी कड़ी में अब पुलिस प्रशासन ने भी मोर्चा संभाला है और गैर गुजरातियों खास तौर पर उत्तरभारतीयों को साथ संबंध सुधारने की कोशिश की जा रही है।
पानी पुरी खाकर
इस कदम के तहत अरवल्ली जिले के कलेक्टर एन नागराजन ने सराहनीय पहल की है।पुलिस अधीक्षक मयूर पाटिल के साथ मध्य प्रदेश के एक प्रवासी कामगार के स्टॉल से उन्होंने पानी पुरी खाई। उन्होंने प्रवासियों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की तस्वीरें भी साझा की। अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत और अन्य प्रभावित जिलों के कलेक्टरों ने भी बड़ी प्रवासी आबादी वाले इलाकों का दौरा किया और प्रवासियों के साथ समय बिताया साथ ही सुरक्षा को लेकर उनकी चिंताओं का निराकरण किया।

भाई और चाचा पहले हाथ पकड़ते और फिर...दसवीं की छात्रा ने उत्तरपुस्तिका में लिखकर बताई आपबीती
आपको बता दें कि पिछले कुछ दिनों में उन्होंने हिंदी भाषी प्रवासियों का प्रतिनिधित्व करने वाले संगठनों के नेताओं के साथ भी बैठकें की। ज्यादातर प्रवासी गुजरात के औद्योगिक क्षेत्रों में नौकरी करते हैं। इसके अलावा बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल (युनाइटेड) की दिल्ली इकाई ने गुजरात में बिहार और पूर्वाचल के लोगों पर हमला करने व कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर को बर्खास्त करने की मांग को लेकर शनिवार को यहां पार्लियामेंट स्ट्रीट पर धरना-प्रदर्शन किया।


जनता दल (युनाइटेड) की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष दयानंद राय ने कहा, बिहार के लोगों पर हुए अत्याचार और हिंसा की पार्टी कड़े शब्दों में निंदा करती है। जदयू और बिहार के मुख्यमंत्री बिहारी अस्मिता के साथ कभी समझौता नहीं करेंगे। दयानंद राय ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मांग करते हुए कहा कि वह पार्टी के गुजरात कार्यकर्ताओं से बिहार के लोगों पर हमले को रोकने में मदद करने को कहें। साथ ही उन्होंने राहुल से कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर को बर्खास्त करने की भी मांग की।

Ad Block is Banned