पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आई प्रद्युमन के मौत की वजह, तेजधार हथियार से दो बार हुआ था वार

Dharmendra Chouhan

Publish: Sep, 16 2017 02:04:14 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2017 02:41:50 PM (IST)

इंडिया की अन्‍य खबरें
पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आई प्रद्युमन के मौत की वजह, तेजधार हथियार से दो बार हुआ था वार

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार मासूम प्रद्युमन का गला धारदार हथियार से दो बार रेता गया था

नई दिल्ली. रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 7 साल के प्रद्युमन की हत्या की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आ गई है। रिपोर्ट के अनुसार प्रद्घुमन की मौत आघात और ज्यादा खून बहने से हुई थी। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि एक तेज धारधार हथियार से दो बार वार किया गया। इससे शरीर पर एक 18 सेमी लंबा और 2 सेमी चौड़ा घाव हो गया था। मामले में हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने सीबीआई जांच की सिफारिश की है। प्रशासन तीन महीने के लिए रेयान इंटरनेशनल स्कूल का मैनेजमेंट अपने हाथ में ले लिया है। सोमवार को गुडग़ांव प्रशासन इसे टेकओवर कर लेगा। स्कूल में किसी हादसे के बाद सरकार के किसी निजी स्कूल का संचालन करने का यह पहला मामला है। इससे पहले दिल्ली में सरकार ने मैक्सफोर्ट स्कूल की दो ब्रांच का मैनेजमेंट अपने हाथ में लिया, जिन्होंने शिक्षा विभाग के नियम तोड़े थे। पुलिस मामले में बस के कंडक्टर अशोक को गिरफ्तार कर चुकी है।

एसआईटी को मिले सीसीटीवी फुटेज
एक दिन पहले ही इस मामले एसआईटी ने रेयान इंटरनेशनल स्कूल के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज में चौंकाने वाले तथ्य देखे थे। वीडियो में दिख रहा है कि मासूम प्रद्युम्न खून से लथपथ रेंगते हुए टॉयलेट से बाहर आया था। उसने गला कटने के बाद खून से सने हुए अपने गले को हाथ से पकड़ा हुआ था। टॉयलेट के बाहर लगे एक कैमरे में प्रद्युम्न की हत्या की तस्वीरें कैद हुई हैं। हत्या के आरोप में पुलिस बस कंडक्टर अशोक को गिरफ्तार कर चुकी है।



पिता ने कहा कुछ और भी हुआ था
प्रद्युम्न के पिता वरुणचंद्र ठाकुर ने एक इंटरव्यू में कहा है कि बच्चा तो आंख दिखाने पर ही डर जाता, उसकी निर्दयता से हत्या क्यों कर दी गई? वरुण का कहना है कि प्रद्युम्न की हत्या की जांच में वे पुलिस सहित किसी भी एजेंसी पर वह सवाल खड़ा नहीं कर रहे हैं, बल्कि उनका मानना है कि इस मामले में कुछ न कुछ चीजें छूट जरूर रही हैं। जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराई जाती तो बहुत अच्छा होता। प्रद्युम्न के पिता ने घटना और आरोपी बस हेल्पर अशोक कुमार की गिरफ्तारी पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि स्कूल बस कंडक्टर, जिस पर हत्या का आरोप लगाया जा रहा है, आखिर उनके बेटे को क्यों मारेगा? यदि बस कंडक्टर टॉयलेट में कुछ गलत भी कर रहा था, तो सात साल के बच्चे को क्या समझ में आएगा। वह तो केवल आंख दिखाने पर ही डर जाता। उसकी निर्दयता से हत्या करने की क्या जरूरत थी? निश्चित रूप से हत्या के पीछे कुछ न कुछ है। इसकी जांच सीबीआई से ही होनी चाहिए। उन्होंने इस मामले की निष्पक्ष जांच की मांग दोहराते हुए कहा कि इस मामले में एक भी दोषी नहीं बचना चाहिए, तभी यह मामला ऐसे स्कूलों के लिए एक सबक बनेगा।

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned