गुरुग्राम और फरीदाबाद महिलाओं के लिए सबसे ज्यादा असुरक्षित, विधानसभा में पेश हुई चौंकाने वाली रिपोर्ट

गुरुग्राम और फरीदाबाद महिलाओं के लिए सबसे ज्यादा असुरक्षित, विधानसभा में पेश हुई चौंकाने वाली रिपोर्ट

अगस्त 2014 से सितंबर 2018 के बीच गुरुग्राम में 3768 और फरीदाबाद में 3440 मामले दर्ज हुए।

चंडीगढ़। हरियाणा में एक तरफ तो रेवाड़ी में सीबीएसई टॉपर के साथ हुए कथित गैंगरेप के मामले ने खट्टर सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी हैं तो वहीं दूसरी तरफ हाल ही में विधानसभा में पेश की गई एक रिपोर्ट से भी खट्टर सरकार की चिंताएं बढ़ गई हैं। दरअसल, बीते बुधवार को हरियाणा विधानसभा में एक रिपोर्ट पेश की गई थी, जिसके आधार पर ये पता चला है कि गुरुग्राम और फरीदाबाद हरियाणा के दो ऐसे शहर हैं जो महिलाओं के लिए सबसे ज्यादा असुरक्षित हैं। इस रिपोर्ट के मुताबिक, 2014 से 2018 तक के बीच में गुरुग्राम और फरीदाबाद में महिलाओं के खिलाफ आपराधिक मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हुई है।

गुरुग्राम और फरीदाबाद महिलाओं के नहीं है बिल्कुल सेफ!

एक अंग्रेजी अखबार की खबर के मुताबिक, अगस्त 2014 से सितंबर 2018 के बीच गुरुग्राम में 3768 और फरीदाबाद में 3440 मामले दर्ज हुए। इनमें से गुरुग्राम में रेप के 555 मामले और महिलाओं एवं लड़कियों के साथ छेड़खानी एवं अपहरण की 2308 घटनाएं हुईं। वहीं फरीदाबाद में रेप के 352 मामले और अपहरण एवं छेड़खानी के 1656 मामले सामने आए हैं। इसके अलावा पिछले चार साल के अंदर राज्य में महिलाओं के खिलाफ अपराध के 37,161 मामले दर्ज हुए हैं।

विधानसभा में MLA जगबीर सिंह मलिक के सवाल के जवाब में पेश हुई रिपोर्ट

हरियाणा विधानसभा के अंदर ये रिपोर्ट गोहना से विधायक जगबीर सिंह मलिक के सवाल के जवाब में पेश की गई। जगबीर सिंह मलिक ने अपने सवाल में पूछा था कि क्या इन चार सालों में महिलाओं के खिलाफ अपराध में वृद्धि हुई है? साथ ही उन्होंने यह भी पूछा कि महिला पुलिस थानों से महिलाओं के खिलाफ अपराध रोकने में मदद मिल रही है कि नहीं? जवाब में पेश की गई रिपोर्ट में रिपोर्ट से यह बात सामने आई कि राज्य में महिलाओं से रेप के मामले बढ़े हैं। अगस्त 2014 से सितंबर 2015 के बीच हरियाणा में रेप के 961 मामले दर्ज हुए। बयान के मुताबिक सितंबर 2017 से रेप के कुल 1,413 मामले दर्ज हुए। हालांकि सरकार ने इन आंकड़ों को पेश करते हुए बताया है कि ऐसे जिले जहां महिला पुलिस स्टेशन हैं, वहां पर अपराध में कमी देखी गई।

चौंकाने वाले आंकड़ों पर पुलिस ने दी सफाई

इन आंकड़ों के बाद सरकार की तो फजीहत हो ही रही है साथ में पुलिस भी सवालों के घेरे में है। इस रिपोर्ट को लेकर हरियाणा के डीजीपी बीएस संधु ने कहा, 'यह वृद्धि इसलिए हुई क्योंकि महिलाओं के खिलाफ अपराध से जुड़ी सभी शिकायतों को मामलों में तब्दील कर दिया गया है। इसके अलावा राज्य में कुछ ऐसी भी घटनाएं सामने आईं जिनमें रेप के मामले दरअसल हनी ट्रैप के थे। हमने इस तरह के 47 गिरोह का पर्दाफाश किया है। इस तरह से अपराध का यह आंकड़ा उतना परेशान करने वाला नहीं है और पुलिस सुरक्षा बेहतर हुई है।'

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned