केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को हाईकोर्ट का नोटिस, चुनाव के दौरान गलत जानकारी देने पर मांगा जवाब

केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को हाईकोर्ट का नोटिस, चुनाव के दौरान गलत जानकारी देने पर मांगा जवाब

  • Union Minister Harshvardhan की बढ़ सकती है मुश्किल
  • Delhi High Court ने भेजा नोटिस
  • चुनाव में गलत जानकारी देने का मामला

नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ( union minister Harshvardhan ) की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। दरअसल केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता डॉ. हर्षवर्धन को दिल्ली हाईकोर्ट ( Delhi High Court ) ने नोटिस जारी किया है। डॉ. हर्षवर्धन पर चुनावी एफिडेविट में गलत जानकारी देने का आरोप लगाया गया है। अब इस मामले में अगली सुनवाई 24 सितंबर को की जाएगी।


बीजेपी नेता और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ दायर की गई याचिका में कहा गया है कि डॉ. हर्षवर्धन ने 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में एक फ्लैट की कीमत अलग-अलग बताई है।

गोवा विधायक मामले को लेकर बीजेपी पर भड़के पर्रिकर के बेटे, बोले- भगवा ने पकड़ी अलग दिशा

आय का स्त्रोत भी गलत
केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। दरअसल उनके खिलाफ गुरुवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है। दरअसल डॉ. हर्षवर्धन के खिलाफ याचिका दायर की गई थी जिसमें कहा गया था कि उन्होंने 2014 और 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान अपने एक फ्लैट की अलग-अलग कीमत बताई।


यही नहीं डॉ. हर्षवर्धन ने अपनी पत्‍नी की आय का स्‍त्रोत हाउस रेंटल (मकान का किराया) बताया। जो गलत है। डॉ. हर्षवर्धन ने 2014 में उक्त फ्लैट को खरीदा। इस दौरान इसकी कीमत एफिडेविट में 62 लाख 50 हज़ार रुपये बताई गई। जबकि 2019 के एफिडेविट में इसी फ्लैट की कीमत 70 लाख से ज्‍यादा की बताई गई।

 

Harshvardhan

कांग्रेस का सबसे बुरा दौर, कर्नाटक, गोवा समेत 3 राज्यों में मुश्किल में पार्टी

फ्लैट खरीदने का ब्योरा नहीं
डॉ. हर्षवर्धन पर ये भी आरोप है कि उन्होंने जब 2014 में इस फ्लैट की खरीद का एफिडेविट दिया तो उसके साथ ये जानकारी नहीं दी गई कि इस फ्लैट को खरीदने के लिए उनके पास पैसे कहां से आए।


कोर्ट ने मांगी प्रतिक्रिया
हाइकोर्ट ने इसी याचिका के आधार पर केंद्रीय मंत्री को नोटिस जारी किया है। अब इस मामले में अगली सुनवाई के लिए 24 सितंबर की तारीख तय की गई है। इस दौरान केंद्रीय मंत्री को याचिका में लगे आरोपों का जवाब देना होगा।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned