किसान आंदोलन: सुप्रीम कोर्ट में कृषि कानून पर सोमवार को सुनवाई

Highlights

  • सात जनवरी को हुई आठवें दौर वार्ता भी बेनीजा निकली।
  • केंद्र ने कृषि कानून को निरस्त करने से पूरी तरह से इनकार कर दिया।

नई दिल्ली। किसान और केंद्र सरकार के बीच गतिरोध बरकरार है। इस बीच सुप्रीम कोर्ट नए कृषि कानून को चुनौती देने वाली कई याचिकाओं और दिल्ली की सीमा पर चल रहे किसानोंं के प्रदर्शन से जुड़ी याचिकाओं पर सोमवार को सुनवाई करेगा।

Video: श्वान की हिम्मत देख जंगल के राजा भी हटे पीछे

गौरतलब है कि केंद्र और किसान संगठनों के बीच सात जनवरी को हुई आठवें दौर वार्ता भी बेनीजा निकली। केंद्र ने कृषि कानून को निरस्त करने से पूरी तरह से इनकार कर दिया। किसान नेताओं ने कहा कि वे अंतिम सांस तक लड़ाई लड़ने के लिए तैयार हैं। उनकी 'घर वापसी' सिर्फ 'कानून वापसी' के बाद होगी।

प्रधान न्यायाधीश एसए बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ द्वारा सोमवार को अहम सुनवाई होनी है। केंद्र और किसान नेताओं के बीच 15 जनवरी को अगली बैठक तय की गई है। सुप्रीम कोर्ट को केंद्र सरकार ने जानकारी दी थी कि उसके और किसान संगठनों के बीच सभी मुद्दों पर 'स्वस्थ चर्चा' जारी है। इस बात की पूरी उम्मीद है कि दोनों पक्ष भविष्य में किसी समाधान पर पहुंच जाएं।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned