हनीप्रीत को डेरा चीफ विपासना के सामने बिठाकर फिर से हुई पूछताछ, पुलिस खोज रही पंचकूला हिंसा के तार

amit sharma

Publish: Oct, 13 2017 12:11:59 PM (IST)

इंडिया की अन्‍य खबरें
हनीप्रीत को डेरा चीफ विपासना के सामने बिठाकर फिर से हुई पूछताछ, पुलिस खोज रही पंचकूला हिंसा के तार

डेरा चीफ विपासना के पास भी हिंसा से जुड़ी हो सकती है गहरी जानकारी, हनीप्रीत पर है पंचकूला में हिंसा भड़काने का आरोप

चंडीगढ़. बाबा रामरहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत की पुलिस रिमांड शुक्रवार को ख़त्म हो रही है. इसके बाद पुलिस उसे पंचकूला कोर्ट में पेश करेगी. कोर्ट में पेशी से पहले पुलिस उसे डेरा चीफ विपासना के सामने बिठाकर पूछताछ कर रही है. पुलिस का मानना है कि 25 अगस्त को पंचकूला में हुई हिंसा के पीछे हनीप्रीत का 'इशारा' हो सकता है और पुलिस उसी कड़ी को जोड़ने में लगी हुई है.

WhatsApp पर लिखा ये दर्दनाक स्टेटस, और मौत को लगा लिया गले

विपासना के सामने भी रो पड़ी हनीप्रीत

जानकारी के मुताबिक़ जब शुक्रवार को पुलिस ने हनीप्रीत से विपासना का आमना-सामना कराया, तब हनीप्रीत उसे पकड़कर रोने लगी. बड़ी मुश्किल से ही उसके आंसू सम्भले और उसके बाद पुलिस उससे पूछताछ शुरू कर पायी. विपासना भी इस अवसर पर भावुक हो गयी थी और वह भी हनीप्रीत को पकड़कर रोने लगी थी.

दलित लेखक कांचा इलैया पर केस दर्ज, अपनी पुस्तक के जरिये धार्मिक भावनाएं आहत करने का आरोप

क्या चाहती है पुलिस

दरअसल, पंचकूला हिंसा मामले में हनीप्रीत का 'हाथ' होने के बारे में पुलिस के पास कोई बड़ा सबूत अब तक हाथ नहीं लगा है. यहां तक कि पुलिस हनीप्रीत का मोबाइल या लैपटॉप तक नहीं बरामद कर पायी है. उसके पास कुल जमा हनीप्रीत का वह कबूलनामा है जो उसने अपनी गिरफ्तारी के बाद पुलिस को दिया है. पुलिस को इस बात की भी आशंका है कि इन सबूतों के आधार पर ये मामला कोर्ट में नहीं ठहरेगा. इसके आलावा हनीप्रीत खुद भी अपने इस बयान पर कोर्ट में जाकर मुकर सकती है, जिसके बाद उसे छोड़ने पर पुलिस मजबूर हो जायेगी. इसीलिए पुलिस हनीप्रीत को कोर्ट में पेश करने के पहले ठोस सबूत जुटा लेना चाहती है और इसीलिए हनीप्रीत को विपासना के सामने रखकर पूछताछ की जा रही है.

‘गांधी की हत्या के लिए गोडसे को किसने भड़काया’

Ad Block is Banned