बुखार से पीड़ित विधायक को अस्पताल से लौटाया, बेड खाली नहीं होने का दिया हवाला

रात में काफी मशक्कत के बाद विधायक को सीएमआरआई अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां हालत संतोषजनक बताई जा रही है।

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में आम लोग तो आम लोग अब बुखार से पीडि़त एक विधायक को अस्पताल से लौटा देने का मामला प्रकाश में आया है। गत मंगलवार की रात 103 डिग्री बुखार से पीडि़त माकपा विधायक रफीकुल इस्लाम को एसएसकेएम (पीजी) अस्पताल प्रबंधन ने बेड खाली नहीं होने का हवाला देकर लौटा दिया। उस वक्त उन्हें बुखार के साथ घुटने और जोड़ों में काफी दर्द हो रहा था। विधायक के बड़े भाई इस्माइल मण्डल, पत्नी और उनके अंगरक्षक उन्हें इलाज कराने के लिए रात भर अस्पतालों का चक्कर काटते रहे। पीजी और वेल व्यू जैसे अस्पताल ने उन्हें भर्ती लेने से मना कर दिया था। अंत में उन्हें तडक़े करीब 3.30 बजे सीएमआरआई अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां विधायक की हालत संतोषजनक बताई जा रही है।

अस्पताल से शिकायत

विधायक इस्लाम ने रविवार को बताया कि पीजी अस्पताल और वेल व्यू अस्पताल प्रबंधन ने उनके विधायक होने का परिचय देने को गंभीरता से नहीं लिया। तब अस्पताल के इमरजेंसी विभाग में तैनात चिकित्सक व नर्स ने दलील दी कि उनकी नजरों में सभी लोग एक समान हैं।

परिजन काटते रहे अस्पतालों का चक्कर
विधायक इस्लाम ने बताया कि गत मंगलवार को उन्हें बुखार आया। सबसे पहले वे दमदम नर्सिंग होम में भर्ती हुए। पर बुखार कम नहीं होने की स्थिति में चिकित्सकों ने उन्हें बेहतर इलाज के लिए कोलकाता के किसी अच्छे अस्पताल में भर्ती होने के लिए रेफर कर दिया। विधायक ने बताया कि रात ११ बजे उनके परिजन कोलकाता के अस्पतालों का चक्कर लगाते रहे। पीजी अस्पताल में भर्ती होने के लिए उन्हें करीब दो घंटे तक इंतजार करना पड़ा था।

स्पीकर से करेंगे शिकायत
माकपा विधायक इस्लाम ने बताया कि फिलहाल उन्हें बुखार नहीं है। प्लेटलेट भी संतोषजनक है। विशेषज्ञ चिकित्सक सोमवार को उनके स्वास्थ्य की जांच करने के बाद अस्पताल से छुट्टी देने पर विचार कर सकते हैं। अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद वे विधानसभा अध्यक्ष विमान बनर्जी से मुलाकात कर उन्हें अपनी आपबीती सुनाएंगे। एक जनप्रतिनिधि के प्रति पीजी अस्पताल प्रबंधन का रवैया ठीक नहीं रहा, वे इसकी शिकायत विस अध्यक्ष से करेंगे। उन्होंने कहा कि उनका निर्वाचन क्षेत्र उत्तर २४ परगना के बसीरहाट (उत्तर) है। उनके निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत भेरिया, हासनाबाद, राजापुर समेत कई अन्य इलाकों में अज्ञात बुखार और डेंगू का प्रकोप जारी है।

Prashant Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned