गोवा के मुख्यमंत्री बोले- लड़कियों का बियर पीना डराने वाली बात...

कार्यक्रम में अपने छात्र जीवन की यादें भी ताजा कीं।

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर इन दिनों लड़कियों के बियर पीने से चिंतित हैं। एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने अपनी यह चिंता जाहिर की। उन्होंने कहा- आजकल लड़कियों ने भी बियर पीना शुरू कर दिया है। यह डराने वाली बात है। स्टेट यूथ पार्लियामेंट कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि वह यह बात यहां बैठे सभी लोगों के बारे में नहीं कह रहे हैं। लेकिन बियर पीना लड़कियों की आदत में आना शुरू हो गया है। अब सहने की सीमा समाप्त हो गई है।

इससे पहले पर्रिकर ने कहा था कि गोवा में नशीले पदार्थों की तस्करी को समाप्त करने के लिए सरकार कार्रवाई कर रही है। हालांकि दुनिया में इस काम को पूरी तरह समाप्त नहीं किया जा सकता। उन्होंने पुलिस को नशीले पदार्थों के कारोबार के नेटवर्क में संलिप्त लोगों पर कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए और बताया कि अब तक इससे संबंधित 170 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

कॉलेजों में नशीले पदार्थों की सप्लाई नहीं
उन्होंने कहा कि ऐसा भी नहीं है कि पूना के कॉलेजों में नशीले पदार्थों की सप्लाई हो रही है। इस संबंध में कुछ घटनाएं सामने आई हैं। लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि कॉलेजों में बड़े स्तर पर नशा सप्लाई किया जा रहा है। कानून के बारे में उन्होंने कहा कि यदि किसी के पास कम मात्रा में नशीले पदार्थ मिलते हैं, तो वह 8 से 15 दिनों में जमानत ले सकता है। अदालतें भी ऐसे केसों पर ज्यादा ध्यान नहीं देतीं, जो चिंता का विषय है।

मेहनत से कतरा रहे हैं गोवा के युवा
बेरोजगारी के बारे में पर्रिकर ने कहा कि गोवा का यूथ मेहनत करने से कतरा रहा है। उन्हें लगता है कि सरकारी नौकरी में मेहनत नहीं करनी पड़ती। इसलिए जूनियर क्लर्क जैसी नौकरी लेने के लिए लंबी लाइन लग जाती है। इस दौरान उन्होंने अपने छात्र जीवन की यादें ताजा करते हुए कहा कि- 'जब मैं आईआईटी बॉम्बे में था, तो वहां कुछ स्टूडेंट गांजे का नशा करते थे। कुछ स्टूडेंट पर पॉर्न फिल्में देखने का भूत सवार था। इसलिए मैं कहूंगा कि ये सब आज की समस्याएं नहीं है। पहले से ही ऐसा होता आया है।'

 

Navyavesh Navrahi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned