IAF Day : हिंडन एयरबेस पर दिखी वायुसेना की ताकत, पीएम मोदी ने कहा - आपका शौर्य और समर्पण प्रेरित करने वाला

  • हिंडन एयरबेस पर अपने शौर्य का प्रदर्शन कर वायुसेना ने सबको चौंकाया।
  • पीएम बोले - आप आसमान को सुरक्षित रखने के साथ अन्य क्षेत्रों में भी अग्रणी भूमिका निभाते हैं।
  • यूएस राजदूत जस्टर ने कहा - रक्षा सहयोग भारत-अमरीका संबंधों की आधारशिला है।

नई दिल्ली। गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर भारतीय वायुसेना के 88वें स्थापना दिवस पर राष्ट्रभक्ति और रोमांच से भरपूर खास कार्यक्रम सुबह से जारी है। इस अवसर पर वायुसेना द्वारा मारक क्षमता का भव्य प्रदर्शन सभी के लिए चौंकाने वाला रहा। इस कार्यक्रम में तीनों सेनाओं के सेनाध्यक्ष हिंडन एयरबेस पर मौजूद हैं।

आज वायुसेना दिवस पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भी एयरफोर्स के जवानों को शुभकामनाएं दी हैं।

मां भारती के लिए वायुसेना का शौर्य अनुकरणीय

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय वायुसेना दिवस पर अपने ट्विट में लिखा है कि एयर फोर्स डे पर भारतीय वायुसेना के सभी वीर योद्धाओं को बहुत-बहुत बधाई। आप न सिर्फ देश के आसमान को सुरक्षित रखते हैं, बल्कि आपदा के समय मानवता की सेवा में भी अग्रणी भूमिका निभाते हैं। मां भारती की रक्षा के लिए आपका साहस, शौर्य और समर्पण हर किसी को प्रेरित करने वाला है।

देश की रक्षा के लिए वायुसेना तैयार - भदौरिया
वायुसेना दिवस पर एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने कहा कि 89वें साल में प्रवेश के साथ ही वायुसेना एक परिवर्तनकारी दौर से गुजर रही है। हम एक ऐसे समय में प्रवेश कर रहे हैं जब हम एयरोस्पेस शक्तियों को नियोजित करेंगे और इंटीग्रेटेड मल्टि-डोमेन ऑपरेशन्स को संचालित करेंगे।

उन्होंने कहा कि यह साल अभूतपूर्व रहा। भदौरिया ने कहा कि मैं देश के लोगों को आश्वासन देना चाहता हूं कि राष्ट्र की संप्रभुता और हितों की रक्षा के लिए वायुसेना हर परिस्थिति में तैयार रहेगी। सीमा पर चीन के साथ गतिरोध पर वायुसेना प्रमुख ने कहा कि उत्तरी सीमा पर गतिरोध के दौरान वायु योद्धाओं की त्वरित प्रतिक्रिया की मैं सराहना करता हूं।

kin.png

अमरीकी राजदूत ने भी दी बधाई

भारत में अमरीकी राजदूत केन जस्टर ने भारतीय वायुसेना दिवस की शुभकामनाएं दी हैं। जस्टर ने कहा कि रक्षा सहयोग भारतीय अमरीका संबंधों की आधारशिला है। हम एक सुरक्षित, स्वतंत्र और नियमों पर आधारित इंडो-पेसिफिक क्षेत्र के लिए मिलकर काम करते हैं। उन्होंने वायुसेना के आदर्श वाक्य 'नभः स्पृशं दीप्तम्' लिखते हुए अपना ट्वीट समाप्त किया है।

चिनूक और रफाल के कारनामे

88वें स्थापना दिवस पर निशान टोली की महिला सैनिकों ने मार्च किया। दो चिनूक हेलिकॉप्टर्स ने भी वायुसेना दिवस के समारोह में हिस्सा लिया। इस दौरान आकाश में इनकी उड़ान देखकर हर कोई रोमांचित हो उठा। रफाल के करतब और मारक क्षमता का प्रर्शन अचंभित करने वाला रहा।

वायुसेना की परेड
थलसेना अध्यक्ष जनरल एमएम नरवणे, नौसेना अध्यक्ष एडमिरल करमवीर सिंह ने कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इस दौरान वायुसेना के प्रमुख विमानों ने अपनी ताकत का परिचय दिया।

pm modi
Show More
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned