ट्रेन में सफर से पहले खो जाए टिकट तो इंडियन रेलवे का ये नियम देगा मुसाफिरों को राहत

- 1 जून से देश में चलेंगी 200 नॉन एसी ट्रेनें

- कंफर्म टिकट गुम हो जाने पर 50 रुपए की पेनल्टी देकर टीटी से लिया जा सकता है डुप्लिकेट टिकट

नई दिल्ली। लॉकडाउन ( Lockdown ) के चौथे चरण में 1 जून से देशभर में 200 नॉन एसी ट्रेन चलने वाली हैं। रेलवे ने ये नियम रखा है कि बिना कंफर्म टिकट ( Confirm Ticket ) के यात्री ट्रेन में सफर नहीं कर सकेंगे। अक्सर ट्रेन में सफर के दौरान कई मौकों पर ऐसा होता है कि यात्री अपना टिकट कहीं ना कहीं भूल जाते हैं। ऐसे में सबसे बड़ा सवाल खड़ा होता है कि बिना टिकट के यात्री ट्रेन में सफर कैसे कर पाएंगे?

टिकट चेकर से आपको मिल जाएगा डुप्लिकेट टिकट

इस तरह की परेशानी उस वक्त गंभीर बन जाती है, जब यात्री ट्रेन में सवार हो जाएं और बाद में पता चले कि उनके पास टिकट तो है नहीं। ऐसे में लोग घबरा जाते हैं और उन्हें समझ नहीं आता कि वे क्या करें और क्या नहीं। ऐसे में आपके पास विकल्प ये है कि आप टिकट चेकर ( TTE ) को 50 रुपये की पेनाल्टी देकर अपना टिकट हासिल कर सकते हैं। टीटीई आपको टिकट के बदले डुप्लीकेट टिकट जारी कर देगा।

स्लीपर और सेकेंड क्लास के लिए है ये सुविधा

भारतीय रेलवे के नियमों के मुताबिक, कंफर्म्ड या आरएसी ( Reservation against Cancellation ) टिकट की डुप्लीकेट टिकट के लिए ही यह सुविधा मिलती है। 50 रुपये की यह फीस स्लीपर और सेकेंड क्लास के लिए है जबकि अन्य क्लास में आपको 100 रुपये खर्च करने होंगे।

टिकट फट जाने का भी रेलवे के पास है समाधान

इसके अलावा अगर सफर से ठीक पहले आपका टिकट फट जाता है तो नियमों के मुताबिक टिकट के कुल किराए की 25 फीसदी रकम वसुलकर आपको डुप्लीकेट टिकट जारी कर दिया जाता है। ये सुविधा कन्फर्म और आरएसी टिकटों पर रिजर्वेशन चार्ट के तैयार होने के बाद मिलती है।

Show More
Kapil Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned