2+2 Dialogue: भारत-अमरीका वार्ता में BECA करार पर लगी मुहर, परमाणु सहयोग के साथ चीन को भी कड़ा संदेश

  • 2+2 Dialogue भारत-अमरीका के बीच BECA करार पर लगी मुहर
  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा- मजबूत हुई दोनों देशों की दोस्ती
  • अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने गलवान हिंसा का जिक्र करते हुए चीन को दिया कड़ा संदेश

नई दिल्ली। भारत और अमरीका ( India America ) के बीच 2+2 वार्ता ( 2+2 Dialogue ) में मंगलवार को सैन्य सहयोग को लेकर बड़ा करार हो गया। हैदराबाद हाउस में हुई बैठक में भारत-अमेरिका के बीच बेसिक एक्सचेंज एंड कॉपरेशन एग्रीमेंट यानी BECA पर करार हुआ। इस करार पर भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो, रक्षा सचिव मार्क एस्पर और भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने हस्ताक्षर किए।

बैठक के बाद दोनों देशों की ओर से साझा बयान जारी किया गया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने बयान में कहा कि भारत और अमरीका की दोस्ती लगातार मजबूत हुई है। 2+2 बैठक में भी दोनों देशों ने कई मसलों पर मंथन किया, जिसमें कोरोना संकट के बाद की स्थिति, दुनिया की मौजूदा स्थिति, सुरक्षा के मसलों पर कई अहम मुद्दों पर विस्तार से बात हुई।

मुंबई में अभिनेत्री पर चाकू जानलेवा हमला, जानें फिर क्या हुआ

सिंह ने कहा कि, दोनों देशों ने परमाणु सहयोग बढ़ाने को लेकर कदम बढ़ाए हैं, साथ ही भारतीय उपमहाद्वीप में सुरक्षा की स्थिति को लेकर विस्तार से बात की है।

चीन को कड़ा संदेश
वर्ता के बाद साझा बयान में चीन को भी कड़ा संदेश दिया गया। अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने अपने बयान में गलवान हिंसा का भी जिक्र किया और कहा कि अमरीका हर वक्त भारत के साथ खड़ा है। इससे चीन को सीधा संदेश गया।

दुनिया के लिए अहम दोस्ती
अमरीकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने कहा कि मौजूदा परिस्थितियों में भारत और अमरीका की दोस्ती ना सिर्फ एशिया बल्कि दुनिया के लिए काफी अहम है।

क्यों अहम BECA
इस समझौते से दोनों देशों के बीच सूचनाओं को साझा करने में और भी आसानी होगी। भारत मिसाइल हमले के लिए विशेष अमरीकी डेटा का इस्तेमाल कर सकेगा। इसमें किसी भी क्षेत्र की सटीक भौगोलिक लोकेशन होती है।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned