India-China Standoff: चीन से बदला लेगा भारत! मोदी सरकार ने Indian Army को दी खुली छूट

-India-China Standoff Update: लद्दाख में गलवान घाटी ( Galvan Valley ) में भारत-चीन सेना के बीच हुए खूनी संघर्ष के बाद स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है।
-लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल ( LAC ) पर सेनाओं को अलर्ट कर दिया गया है। चीनी ( China ) सेना में भी हलचल देखी गई है। -सूत्रों के मुताबिक केंद्र सरकार ने सीमाओं की सुरक्षा के लिए लद्दाख में भारतीय सेना ( Indian Army ) को खुली छूट दे दी है। मंगलवार देर रात हुई कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्योरिटी (CCS) की बैठक के बाद सरकार ने यह फैसला लिया है।

नई दिल्‍ली।
India-China Standoff Update: लद्दाख में गलवान घाटी ( Galvan Valley ) में भारत-चीन सेना के बीच हुए खूनी संघर्ष के बाद स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल ( LAC ) पर सेनाओं को अलर्ट कर दिया गया है। चीनी सेना में भी हलचल देखी गई है। वहीं, सूत्रों के मुताबिक केंद्र सरकार ने सीमाओं की सुरक्षा के लिए लद्दाख में भारतीय सेना को खुली छूट दे दी है। मंगलवार देर रात हुई कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्योरिटी ( CCS ) की बैठक के बाद सरकार ने यह फैसला लिया है। बता दें कि हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान ( 20 Soldiers Martyred ) शहीद हुए हैं। वहीं, चीन ( China ) के 32 जवान हताहत हुए हैं।

सेना को दी खुली छूट
20 भारतीय जवानों के शहीद होने के बाद भारत सरकार ने सेना को खुली छूट देने के साथ ही भारतीय सशस्त्र बलों को आपातकालीन खरीद के लिए भी मंजूरी दी है। इसके अलावा लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर युद्ध सामग्री के भंडार को बढ़ाने की भी बात कही गई है। सूत्रों का कहना है कि सरकार ने भारतीय सेना को किसी भी परिस्थितियों के अनुसार सेना की तैनाती के अधिकार दिए हैं। सैन्य ताकत के प्रदर्शन के लिए भी पूरी अनुमति दी गई है।

Rajnath Singh : गलवान में जवानों का जान गंवाना बेहद दर्दनाक, राष्ट्र नहीं भूलेगा उनका बलिदान

गतिविधियों पर पैनी नजर
बता दें कि भारत चीन हिंसक झड़प के बाद रक्षा मंत्री और तीनों सेना के चीफ लगातार बैठक कर रहे हैं। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह भी लगातार हालातों पर पैनी नजर बनाए हुए हैं। बता दें कि लद्दाख सीमा पर भारत और चीन के बीच पिछले एक महीने से विवाद की स्थिति बनी हुई है।

45 साल पहले गई थी 33 जान
यह झड़प दुनिया के दो परमाणु ताकतों के बीच लद्दाख में 14 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित गलवान वैली में हुई। 45 साल पहले इसी गलवान वैली में 1962 की जंग में 33 भारतीयों की जान गई थी। 45 साल पहले अरुणाचल प्रदेश में भारतीय दल जिस समय गश्‍त पर था उस पर चीनी जवानों ने हमला बोल दिया था। सेना ने बताया कि डि-एस्‍कलेशन प्रक्रिया जारी थी, इसी बीच चीन सेना ने हमला बोल दिया। वहीं, अब जवानों के शहीद होने के बाद तनाव और गहरा गया है।

India China Standoff: 10 महीने पहले ज्‍वाइन की थी ड्यूटी, अब तिरंगे में लिपटा घर आएगा पार्थिव शरीर

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned