माल्या के प्रत्यर्पण के लिए भारतीय प्रयास तेज, भारी सुरक्षा वाले आर्थर ​रोड जेल में रखने की योजना

By: Mohit sharma

Published: 26 Nov 2017, 03:05 PM IST

इंडिया की अन्‍य खबरें
1/1

नई दिल्ली। शराबी कारोबारी विजय माल्या के प्रत्यपर्ण के बाद उनको आॅर्थर रोड जेल में रखा जाएगा। भारत सरकार अब ब्रिटिश कोर्ट को इस बात की जानकारी देगी कि यदि माल्या को भारत प्रत्यर्पित किया जाता है तो उन्हें मुंबई में आर्थर रोड जेल में रखा जाएगा। बता दें कि माल्या पर भारतीय अलग—अलग बैंकों के 9000 हजार करोड़ रुपए का कर्ज न चुकाने का आरोप है। उनके खिलाफ होने वाले कार्रवाई से बचने के लिए माल्या ब्रिटेन चले गए हैं, जहां की अदालत में अब उनके खिलाफ सुनवाई चल रही है।

कैदियों के अधिकारी सुरक्षित

दरअसल, गृह मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस (सीपीएस) के माध्यम से भारत अगले हफ्ते ब्रिटिश कोर्ट को यह जानकारी मुहैया कराएगा। सीपीएस के जरिए सूचना दी जाएगी कि प्रत्यापर्ण के बाद माल्या को आॅर्थर रोड जेल में रखा जाएगा। बता दें कि शराब कारोबारी के प्रत्यर्पण को लेकर भारत सरकार की ओर से सीपीएस बहस कर रहा है। इस दौरान सीपीएस लंदन के वेस्टमिंस्टर मेजिस्ट्रेट्स कोर्ट को जानकारी देगा कि कैदियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए राज्य प्रतिबद्ध है। मिली जानकारी के मुताबिक कोर्ट को यह सूचना दी जाएगी कि भारत में कैदियों की सुरक्षा को लेकर पूरा ध्यान रखा जाता है और दुनिया के अन्य मुल्कों की तरह भारत की जेलों में कैदियों के अधिकार पूरी तरह सुरक्षित हैं।

4 दिसंबर से शुरू होगी कार्रवाई

बता दें कि शराब कारोबारी के वकील की ओर से यह दलील दी गई थी कि फरार माल्या को यदि भारत को सौंपा जाता है, तो उनकी जानकारी को बड़ा खतरा पैदा हो सकता है। उनके वकीन ने बताया कि भारतीय जेलों में कैदियों के साथ गलत व्यवहार और मानवाधिकार उल्लंघनों की कथित घटनाएं सामने आईं हैं। वहीं वेस्टमिंस्टर मेजिस्ट्रेट्स कोर्ट प्रत्यर्पण को लेकर 4 दिसंबर से अपनी कार्रवाई शुरू करेगा।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned