ममता, मायावती और अखिलेश को RSS ने कार्यक्रम के लिए भेजा न्योता, राहुल गांधी पर अभी भी फैसला बाकी

ममता, मायावती और अखिलेश को RSS ने कार्यक्रम के लिए भेजा न्योता, राहुल गांधी पर अभी भी फैसला बाकी

Anil Kumar | Publish: Sep, 14 2018 09:50:55 PM (IST) इंडिया की अन्‍य खबरें

संघ ने विपक्षी खेमे से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विज्य सिंह, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, बसपा सुप्रीमो मायावती और टीएसी प्रमुख ममता बनर्जी को निमंत्रण दिया जा चुका है।

नई दिल्ली। राष्ट्री स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) आगामी 17 सितंबर से तीन दिवसीय एक कार्यक्रम का आयोजन दिल्ली के विज्ञान भवन में करने जा रही है। इस कार्यक्रम का थीम रखा गया है 'भविष्य का भारत'। सबसे खास बात यह है कि इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को न्यौता देने की बातें कही जा रही है। हालांकि अभी तक औपचारिक तौर पर राहुल गांधी को निमंत्रण नहीं दिया गया है। दिलचस्प बात यह है कि संघ ने विपक्षी खेमे से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विज्य सिंह, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, बसपा सुप्रीमो मायावती और टीएसी प्रमुख ममता बनर्जी को निमंत्रण दिया जा चुका है। बताया जा रहा है कि राहुल गांधी को कार्यक्रम में शामिल होने के लिए निजी तौर पर आमंत्रित किया जाए। हालांकि अभी तक आमंत्रण नहीं किया गया है जबकि कार्यक्रम के आयोजन में अब बस कुछ ही दिन शेष रह गए हैं। बता दें कि तीन दिनों तक चलने वाले इस कार्यक्रम में संघ प्रमुख मोहन भागवत देश और दुनिया से आए प्रतिनिधियों के बीच भविष्य के भारत को लेकर संघ के विचार को रखेंगे।

BJP और RSS के खिलाफ अब यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में चलेगा बड़ा अभियान, कांग्रेस ने तय की रणनीति

40 राजनीतिक दलों के प्रमुखों को भेजा गया निमंत्रण

आपको बता दें कि मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक संघ के मुखर आलोचक मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह को संघ ने कार्यक्रम में शामिल होने के लिए निमंत्रण दिया है। चौंकाने वाली बात यह है कि इस लिस्ट में ऐसे कई नाम ओर है जो कि हमेशा से आरएसएस की आलोचना करते रहते हैं और सार्वजनिक मंच पर कई गंभीर आरोप भी लगा चुके हैं। दिग्विजय सिंह के अलावा उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादाव, बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख बहन मायावती, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी को निमंत्रण भेजा गया है। बता दें कि इसके अलावे संघ ने एआईडीएमके, डीएमके, बीजेडी और टीडीपी समेत देश की 40 राजनीतिक दलों के प्रमुखों को निमंत्रित किया है।

राहुल गांधी ने सांस्‍कृतिक राष्‍ट्रवाद पर बोला हमला, BJP-RSS पर लगाया महिलाओं से भेदभाव का आरोप

मुस्लिम धर्मगुरुओं को किया गया है आमंत्रित

आपको बता दें कि आरएसएस ने 'भविष्य का भारत' कार्यक्रम में शामिल होने के लिए कई मुस्लिम धर्मगुरुओं को भी आमंत्रित किया है। हालांकि इसबीच ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा है कि जबतक आरएसएस की सोंच में बदलाव नहीं होगा तब तक उसके किसी भी कार्यक्रम में शामिल होने का कोई भी औचित्य नहीं है।

70 देशों के विभिन्न प्रतिनिधियों को भेजा गया है निमंत्रण

आपको बता दें कि संघ के 'भविष्य का भारत’ कार्यक्रम में शामिल होने और अपने विचार को रखने के लिए दुनिया भर के 70 देशों के विभिन्न प्रतिनिधियों को निमंत्रण भेजा गया है। संघ ने इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए राजनीतिक दलों, सामाजिक संगठनों, मीडिया से जुड़े लोगों, धार्मिक संगठनों और अन्य कई देशों के प्रतिनिधियों को निमंत्रित किया है। बता दें कि संघ ने पाकिस्तान के किसी भी प्रतिनिधि को इस कार्यक्रम में शरीक होने के लिए आमंत्रित नहीं किया है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को RSS का न्योता नहीं मिला: सुरजेवाला

राहुल ने संघ पर लगाए हैं कई गंभीर आरोप

आपको बता दें कि राहुल गांधी हर मंच और मोर्चे पर संघ की विचारधारा की आलोचना करते रहते हैं। वह हमेशा एक बात कहते आए हैं कि संघ भारत को पीछे ले जाने का कार्य करते हैं। उनकी विचारधारा नफरत फैलाने वाली है, समाज को बांटने वाली है। संघ में महिला और पुरुष को समान अधिकार नहीं है। राहुल गांधी आरोप लगाते हैं कि संघ में महिलाओं के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा है। राहुल गांधी ने तो एक बार यहां तक भी कह दिया था कि संघ ने ही राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या की है। हालांकि इस मामले को लेकर उनपर मानहानि का भी मुकदमा चल रहा है। राहुल गांधी ने ऐसे कई गंभीर आरोप संघ के उपर लगाए हैं।

Ad Block is Banned