चंद्रयान-2: ISRO चीफ के सिवन ने देश को लेकर कह दी ऐसी बात, हो गई वायरल

चंद्रयान-2: ISRO चीफ के सिवन ने देश को लेकर कह दी ऐसी बात, हो गई वायरल

  • Chandrayaan 2 के प्रमुख के सिवन को लेकर आई बड़ी खबर
  • ISRO चीफ ने देश को लेकर कह दी बड़ी बात
  • पीएम मोदी के पीठ थपथपाने वाला पल कर गया भावुक

नई दिल्ली। चंद्रयान 2 मिशन को लेकर इन दिनों भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के चेयरमैन के सिवन इनदिनों खासे चर्चा में हैं। इसके पीछे ना सिर्फ उनकी मेहनत बल्कि देश सेवा का जज्बा भी है। चांद की सतह पर कदम रखने से थोड़ी सी दूरी पर लैंडर विक्रम से इसरो का संपर्क भले टूटा हो लेकिन संकल्प नहीं टूटा।

सिवन की इसी बात ने पूरी दुनिया का ध्यान उनकी ओर खींचा। यही नहीं तब से अब तक सिवन की हर बात पूरा देश ध्यान से सुन रहा है। इस बीच सिवन का ही एक बयान काफी वायरल हो रहा है। इस बयान में सिवन ने देश को लेकर कुछ ऐसा कहा है कि हर कोई उन पर गर्व कर रहा है।

चंद्रयान-2 लैंडर विक्रम को लेकर ISRO को मिली सबसे बड़ी कामयाबी, मिलने लगे अच्छे संकेत

tt.jpg

ISRO चीफ के. सिवन दिखने में भले ही साधारण हैं लेकिन उनकी सोच असाधारण है। यही वजह है कि मिशन मून के लिए सिवन का चयन सबसे उपयुक्त रहा। इसरो चीफ सिवन का वर्ष 2018 में दिया बयान इन दिनों काफी वायरल हो रहा है।

उन्होंने एक तमिल न्यूज चैनल को इंटरव्यू दिया था। इस इंटरव्यू का एक हिस्सा बेहद वायरल हो रहा है, जिसमें सिवन खुद को एक तमिल होने से पहले भारतीय बता रहे हैं। लोग अब उनके इस बयान पर खूब चर्चा कर रहे हैं और उनकी तारीफों के पुल बांध रहे हैं।

इसरो चीफ बनने के बाद एक तमिल न्यूज चैनल ने सिवन का इंटरव्यू किया। इस दौरान उनसे सवाल पूछा गया था कि 'एक तमिल के रूप में आप इतने बड़े पद पर पहुंचे हैं, तमिलनाडु के लोगों के लिए आप क्या कहना चाहते हैं?

इस सवाल का जवाब जिस अंदाज में सिवन ने दिया उसका हर कोई कायल हो गया। इसरो चीफ ने इसका बेहद दिलचस्प जवाब देते हुए कहा था, 'सबसे पहले मैं एक भारतीय हूं। मैंने एक भारतीय के रूप में इसरो जॉइन किया है।

14_5062028_835x547-m.jpg

इसरो ऐसी जगह है जहां देश के सभी क्षेत्रों और अलग-अलग भाषा के लोग एक साथ काम करते हैं और इसरो के लिए अपना योगदान देते हैं। मैं अपने भाईयों के प्रति आभारी हूं जो मेरी प्रशंसा करते हैं।

वीडियो क्लिप के वायरल होने के बाद लोग सोशल मीडिया पर उनके जवाब की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

ये बोले यूजर

एक यूजर ने लिखा कि इसरो चीफ को खुद को पहले भारतीय और फिर तमिलियन बताना उनकी ईमानदारी और देश से प्यार को दर्शाता है। हमें सिवन पर पर गर्व है।

आपको बता दें कि के सिवन को देश का रॉकेटमैन भी कहा जाता है और वो इसरो के कई अहम प्रोजेक्ट को लीड कर चुके हैं।

IIT से पढ़ाई करने वाले सिवन एक किसान परिवार से आते हैं और उनके पिता खेती-बाड़ी किया करते थे। सिवन के पिता ने उनका कॉलेज में एडमिशन भी घर के पास कराया था ताकि वे पढ़ाई के बाद खेती में उनका हाथ बंटा सकें।

भावुक कर गया वो लम्हा
चंद्रयान 2 मिशन के आखिरी वक्त में लैंडर विक्रम से संपर्क टूट जाने के बाद ISRO चीफ के सिवन का पीएम मोदी से गले लगकर रोना सभी भारतीयों को भावुक कर गया था।

उसके बाद से उनकी कई तस्वीर वायरल हो गई और लोग उनके बारे में जानने को उत्सुक हो गए थे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned