जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों की बढ़ेंगी सुविधाएं, 40 प्री फैब्रिकेटेड हट बनाने के लिए गृह मंत्रालय की मंजूरी

जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों की बढ़ेंगी सुविधाएं, 40 प्री फैब्रिकेटेड हट बनाने के लिए गृह मंत्रालय की मंजूरी

  • जम्मू-कश्मीर में तैनात सुरक्षाबलों की सुविधा बढ़ाई जाएंगी
  • आर्टिकल 370 हटने के बाद से घाटी में काफी संख्या में तैनात हैं सुरक्षाबल

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में तैनात सीआरपीएफ के जवानों की सुविधा बढ़ने वाली है। इसके अलावा पहले से जिन जगहों पर जवान रह रहे हैं वहां पर भी सुविधाओं का विस्तार किया जाएगा। इस बाबत गृह मंत्रालय से मंजूरी मिल गई है। इतना ही नहीं गृह मंत्रालय ने 40 प्री फैब्रिकेटेड हट बनाने की भी मंजूरी दे दी है।

दरअसल, जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटने के बाद घाटी में काफी संख्या में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई थी। ताजा महौल को देखते हुए अनुमान लगाया जा रहा है कि अभी घाटी में जवानों की तैनाती जारी रहेगी। लिहाजा, उनकी सुविधाएं बढ़ाई जा रही है। वहीं, एक महीने बाद घाटी में ठंड शुरू होने वाली है और सुरक्षाबलों के लिए यह किसी चुनौती से कम नही है। इसी को देखते हुए गृह मंत्रालय ने कश्मीर के विभिन्न भागों में 40 प्री फैब्रिकेटेड हट बनाने को मंजूरी दी है।

इन हट को पॉलीयूरीथेन फोम से इंसूलेट किया जाएगा ताकि ठंड से बचा जा सके। सरकार के इस कदम से अब यह अनुमान लगाया जा रहा है कि अनुच्छेद 370 हटने के बाद तैनात किए गए सुरक्षाबलों के जवान लंबी अवधि के लिए यहीं पर रहेंगे।

पढ़ें- बालाकोट में आतंकी फिर सक्रिय, LOC पर पर्याप्त सुरक्षाबल तैनात- सेना प्रमुख

home.jpg

इसके अलावा सुरक्षा बल के जवान जिन खाली घरों और होटलों में काफी समय से रह रहे हें, वहां पर भी सुविधाओं में विस्तार होगा। यह अधिकांश घर और होटल कश्मीरी पंडितों के घाटी से जाने के बाद खाली पड़े हुए हैं। पहले इनमें सुविधाओं के विस्तार के लिए इसीलिए मंजूरी नहीं दी जाती थी क्योंकि यह सरकारी नहीं थे। अब देखना यह है कि जवानों की तैनाती घाटी में आखिर कब तक रहती है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned