गौरी ने गोरखपुर कांड समेत इन मुद्दों पर लिखे थे अपने आखिरी लेख, माना जाता था BJP विरोधी

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत को लेकर भी योगी सरकार पर साधा था निशाना, डॉ कफिल की बर्खास्तगी पर उठाए थे सवाल

बेंगलुरु/नई दिल्ली: हिंदुत्व राजनीति की कट्टर विरोधी मानी जानें वालीं वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की मंगलवार को बेंगलुरु में गोली मारकर हत्या कर दी गई। बदमाशों ने घर में घुसकर उनकी गोली मारकर हत्या कर दी। हालांकि अभी शुरुआती जांच में पुलिस के हाथ खाली हैं।

मोदी सरकार की आलोचक थीं गौरी
वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश को बीजेपी विरोधी माना जाता था। वहीं हत्या का शक भी हिंदू संगठनों पर जताया जा रहा है। हत्या से 24 घंटे पहले गौरी लंकेश ने सरकार की जमकर आलोचना की थी। एक अंग्रेजी अखबार की खबर के मुताबिक, गौरी लंकेश ने पिछले 24 घंटों के अंदर अपने ट्विटर और फेसबुक अकाउंट पर सरकार की जमकर आलोचना करते हुए रोहिंग्या मुसलमानों, नोटबंदी के नुकसान और भारतीय अभिभावकों को समलैंगिकता के बारे में जागरूक करने वाले यूट्यूब वीडियो पोस्ट किए थे। इसके अलावा मोदी सरकार की भी उन्होंने जमकर आलोचना की थी।

योगी सरकार पर भी साधा था निशाना
इसके अलावा अपने साप्ताहिक कन्नड़ अखबार में गौरी लंकेश ने पिछले 3 महीनों के अंदर केंद्र सरकार के साथ-साथ बीजेपी के कई नेताओं के खिलाफ कम से कम 8 आर्टिकल लिखे थे। गौरी का आखिरी साप्ताहिक आर्टिकल यूपी के गोरखपुर स्थित BRD मेडिकल कॉलेज में हुई बच्चों की हत्या को लेकर था, जिसमें उन्होंने कफिल खान को हटाए जाने को लेकर योगी सरकार की खूब आलोचना की थी।


पिछले 24 घंटे में कई BJP विरोधी ट्वीट शेयर किए
इन सबके अलावा उनको कट्टर बीजेपी विरोधी भी माना जाता था, क्योंकी वो अक्सर सोशल मीडिया पर बीजेपी विरोधी ट्वीट्स और पोस्ट को खूब शेयर करती थीं। पिछले कुछ दिनों में उन्होंने केरल के नौकरशाह जेम्स विल्सन के कई ट्वीट रीट्वीट किए थे। विल्सन नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा की गई नोटबंदी समेत अन्य नीतियों की अक्सर आलोचना करते हैं। पिछले चौबीस घंटे में गौरी लंकेश ने ज्यादातर विभिन्न खबरों के लिंक शेयर किए हैं।

रोहित वेमुला और कन्हैया कुमार के साथ है फोटो
गौरी ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा केंद्र सरकार से रोहिंग्या मुसलमानों को वापस भेजने के मामले में जवाबतलब करने की खबर का लिंक भी शेयर किया था। गौरी लंकेश का फेसबुक अकाउंट उनके ट्विटर अकाउंट से जुड़ा हुआ है इसलिए फेसबुक पर भी ज्यादातर उनके ट्विटर वाले पोस्ट ही हैं। इसके अलावा गौरी के फेसबुक प्रोफाइल पर हैदराबाद यूनिवर्सिटी के छात्र रोहित वेमुला की भी कई तस्वीरें हैं, जिसकी आत्महत्या को लेकर केंद्र की बीजेपी सरकार को दलित विरोधी करार दिया जाने लगा था। साथ ही उनकी एक फोटो जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार के साथ भी है।

हत्या से कुछ घंटे पहले की थी ये पोस्ट
गौरी की हत्या से कुछ देर पहले ही उन्होंने शिक्षक दिवस के उपर अपने स्वर्गीय पिता की एक फोटो शेयर की थी और लिखा था, ''अक्सर नामौजूद पिता लेकिन जिंदगी के एक शानदार शिक्षक- मेरे अप्पा!! हैप्पी टीचर्स डे।” जेपी कार्यकर्ताओं के खिलाफ एक खबर करने के बाद गौरी लंकेश को मानहानि के मुकदमे में निचली अदालत में हार का सामना करना पड़ा था। उन्होंने फैसले के खिलाफ उच्च अदालत में अपील की थी।

हत्यारों की नहीं हो सकी है पहचान
आपको बता दें कि गौरी लंकेश की हत्या की वजह और संदिग्ध हत्यारों की पुलिस अभी पहचान नहीं कर सकी है। कर्नाटक पुलिस प्रमुख आर के दत्ता ने कहा लंकेश को राज राजेश्वरी नगर स्थित घर के बारह अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दी। उनके शरीर पर गोलियों के कई निशान हैं, जिससे जाहिर होता है कि उनकी हत्या के लिए कई बार गोली चलाई गई।


Chandra Prakash Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned