बड़ी खबर: एम करुणानिधि की हालत और बिगड़ी, अस्पताल के बाहर भीड़ के साथ बढ़ी सुरक्षा

चेन्नई के कावेरी अस्पताल के बाहर डीएमके समर्थक भारी संख्या में जुटना शुरू हो गए हैं। जिसे देखते हुए सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

चेन्नई। डीएमके चीफ और तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री एम करुणानिधि की सेहत को लेकर ताजा अपडेट आया है। चेन्नई के कावेरी अस्पताल की तरफ से मंगलवार शाम को करुणानिधि का नया मेडिकल बुलेटिन जारी किया गया है। मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक, पिछले 11 दिनों से अस्पताल में भर्ती करुणानिधि की हालत और बिगड़ गई है। उनकी सेहत में किसी तरह का कोई सुधार नहीं हो रहा है। वहीं अस्पताल के बाहर भारी संख्या में सिक्योरिटी तैनात कर दी गई है। उनकी हालत काफी गंभीर है।

अस्पताल के बाहर बढ़ाई गई सुरक्षा

जानकारी के मुताबिक, अस्पताल के बाहर डीएमके समर्थकों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया है। उनकी सेहत से जुड़े अगले 24 घंटे काफी अहम रहने वाले हैं। आपको बता दें कि पिछले कुछ घंटों से करुणानिधि की हालत लगातार बिगड़ती ही जा रही है। अस्पताल के बाहर समर्थकों की लगातर बढ़ती भीड़ को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा तैनात कर दी गई है।

28 जुलाई को अस्पताल में भर्ती हुए करुणानिधि

इससे पहले सोमवार को भी करुणानिधि की हालत नाजुक बनी हुई थी। उन्हें यूरिन इंफेक्शन और लो ब्लड प्रेशर की शिकायत के बाद उन्हें 28 जुलाई को चेन्नई के कावेरी अस्पताल में भर्ती किया गया था। द्रमुक नेता और उनकी बेटी कनिमोझी ने अस्पताल के बाहर मौजूद समर्थकों से मुलाकात की और उन्हें शांति बनाए रखने को कहा।

रामनाथ कोविंद पहुंचे थे देखने

इससे पहले रविवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी एम करुणानिधि से मिलने के लिए अस्पताल पहुंचे थे। कोविंद ने अस्पताल में करुणानिधि के बेटे और DMK के कार्यकारी अध्यक्ष एम के स्टालिन और DMK सांसद कनिमोझी से बातचीत की थी। रामनाथ कोविंद के अलावा कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू समेत कई बड़ी हस्तियां उनको देखने के लिए जा चुकी हैं।

21 समर्थकों की हो चुकी है सदमे से मौत

आपको बता दें कि एम करूणानिधि के अस्पताल में भर्ती होने से उनके समर्थकों को गहरा सदमा लगा है। करूणानिधि के अस्पताल में भर्ती होने के बाद से अभी तक 21 समर्थकों की सदमे से मौत हो चुकी है। द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) ने हालही में जारी एक बयान में कहा था कि पार्टी प्रमुख करुणानिधि के बीमार होने के बाद 21 कार्यकर्ताओं की मौत हो गई है। ये कार्यकर्ता करूणानिधि के अस्पताल में भर्ती होने की खबर बर्दाश्त नहीं कर पाए थे। द्रमुक ने कार्यकर्ताओं से अपील की है कि पूर्व मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य के मद्देनजर वे कोई कठोर कदम नहीं उठाएं।

Show More
Kapil Tiwari
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned