कश्मीर: सेना ने घुसपैठ की कोशिश को किया नाकाम, 3 आतंकी ढेर

सुरक्षाबलों ने कश्मीर में आतंकियों की धरपकड़ के लिए बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान छेड़ा हुआ है।

नई दिल्ली। जम्मू और कश्मीर स्थित गुरेज सेक्टर में भारतीय सेना ने गुरुवार को घुसपैठ की कोशिश को नाकाम करते हुए तीन आतंकवादियों को मार गिराया। सेना का अभियान अब भी जारी है। सुरक्षाबलों ने कश्मीर में आतंकियों की धरपकड़ के लिए बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान छेड़ा हुआ है।


ग्रामीणों के पथराव के कारण भाग निकला था मूसा
इससे पहले बुधवार को कश्मीर को दारुल-उल-इस्लाम बनाने का नारा देने वाला दुर्दात आतंकी कमांडर जाकिर मूसा दक्षिण कश्मीर के मट्टन (अनंतनाग) में एक मुठभेड़ के दौरान ग्रामीणों की ओर से सुरक्षाबलों पर किए गए पथराव की आड़ में भाग निकला। मूसा को पकडऩे के लिए सुरक्षाबलों ने मट्टन और साथ सटे इलाकों में मूसा के ठिकानों पर दबिश जारी रखी हुई थी।


10 दिनों में 6 जवान शहीद
पिछले 10 दिन के अंदर जम्मू कश्मीर में एलओसी पर पाकिस्तान की तरफ से की गई फायरिंग में सेना के 6 जवान शहीद हो चुके हैं। जयद्रथ से पहले 19 जुलाई को जम्मू के राजौरी सेक्टर में शशि कुमार पाक फायरिंग में शहीद हो गए थे. वह हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर के रहने वाले थे। जम्मू के नौशेरा सेक्टर में पंजाब के मोगा के रहने वाले जसप्रीत पाक गोलीबारी में शहीद हो गए थे। इसी दिन कुपवाड़ा के नौगाम सेक्टर में विमल सिंजाली शहीद हो गए थे। 17 जुलाई को पुलवामा के रहने वाले थे। मुदस्सरअहमद जम्मू के राजौरी सेक्टर में पाक गोलाबारी का निशाना बने थे। इससे पहले 15 जुलाई को जम्मू के राजौरी सेक्टर में पुंछ के रहने वाले मुहम्मद नसीर शहीद हो चुके हैं।


ghanendra singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned