2010 के IAS टॉपर शाह फैसल ने अचानक दिया इस्तीफा, उमर अब्दुल्ला ने कहा- राजनीति में आइए

2019 लोकसभा चुनाव से पहले शाह के इस्तीफे से राजनीति में हलचल तेज हो गई है। जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने इसी दौरान ट्वीट किया, जिससे माना जा रहा है कि शाह नेशनल कॉन्फ्रेंस ज्वॉइन कर सकते हैं।

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के चर्चित भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) अधिकारी शाह फैसल ने अचानक अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। साल 2010 की सिविल सेवा परीक्षा में शीर्ष पर रहने वाले फैसल के इस कदम से कश्मीर की राजनीति में सरगर्मी बढ़ गई है। खबर है कि शाह फैसल उमर अब्दुल्ला की पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस के जरिए सियासत में कदम रख सकते हैं।

सरकारी रवैये से नाराज होकर फैसल ने दिया इस्तीफा

शाह फैसल ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए अपने इस्तीफे की जानकारी साझा की है। उन्होंने जम्मू कश्मीर में आतंक और हिंसा की वजह से इस्तीफे की का जिक्र किया है। शाह ने लिखा कि 'कश्मीर में बेरोक-टोक हत्याओं और केंद्र सरकार द्वारा किसी भी भरोसेमंद पहल की गैर-मौजदूगी के विरोध में मैंने आईएएस सेवा से इस्तीफा देने का फैसला किया है। मेरे लिए कश्मीरी जन-जीवन मायने रखता है। मैं शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करूंगा।'

उमर अब्दुल्ला ने कहा- राजनीति में आइए

फैसल के इस्तीफे के तुरंत बाद नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर फैसल के इस्तीफा का स्वागत किया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि 'नौकरशाही का नुकसान राजनीति का फायदा।' एक दूसरे ट्वीट में उमर ने लिखा, 'वास्तव में हम उनका (फैसल) राजनीति में स्वागत करते हैं। उनके सियासी भविष्य के बारे में जल्द ही ऐलान किया जाएगा'।

बारामूला से चुनाव लड़ने की आई खबर

उमर अब्दुल्ला के इस बयान से कयास लगाया जा रहा है कि शाह फैसल नेशनल कॉन्फ्रेंस ज्वॉइन कर सकते हैं। वह कश्मीर घाटी के बारामूला निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा चुनाव लडेंगे। कुछ मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि फैसल ने राजनीति में शामिल होने के लिए ही आईएएस का पद छोड़ा है। फैसल के करीबी सूत्रों ने बताया कि उन्होंने ने सेवा से इस्तीफा देने के अपने फैसले को लेकर सरकार को अनिवार्य सूचना भेज दी है।

2010 के IAS टॉपर हैं फैसल

फैसल ने वर्ष 2010 में आईएएस परीक्षा में टॉप किया था। उन्हें जम्मू कश्मीर का होम कैडर आवंटित किया गया था, जहां उन्होंने जिला मजिस्ट्रेट, स्कूल शिक्षा निदेशक और राज्य के स्वामित्व वाले पावर डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन के प्रबंध निदेशक के रूप में काम किया। वह हाल ही में हार्वर्ड केनेडी स्कूल में फुलब्राइट फैलोशिप पूरा करने के बाद अमरीका से लौटे थे।

Show More
Chandra Prakash Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned