केरल: बाढ़ में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को 4 लाख और घर बनाने के लिए 10 लाख मुआवजे की घोषणा

केरल: बाढ़ में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को 4 लाख और घर बनाने के लिए 10 लाख मुआवजे की घोषणा

केरल के आठ जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया है।

तिरुवंतमपुरम। केरल में बाढ़ ने भारी तबाही मचाई हुई है। आधा केरल बाढ़ की चपेट में है।बारिश और उसके बाद बाढ़ ने राज्य में हालत खराब कर दिए हैं। लोग परेशान हैं। जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। जान माल का भारी नुकसान हुआ है। बाढ़ की वजह से कई जगहों पर हाइवे टूट गए हैं। साथ ही कई घर पानी में बह गए हैं। बारिश और बाढ़ से पिछले 48 घंटों में मरने वालों का आंकड़ा भी 29 पहुंच चुका है। इस बीच राज्य के मुख्यमंत्री पिनारई विजयन ने शनिवार को वायनाड का हवाई दौरा कर बाढ़ का जायजा लिया।पीड़ितों से भी मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को 4 लाख रुपए और जिनके घर बाढ़ में बह गए हैं। उन्हें 10 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की है।वहीं पड़ोसी राज्य तमिलनाडु ने केरल को 5 करोड़ की मदद राशि भेजी है। आसमानी आफत ने केरल की तस्वीर ही बदल दी है। गांव, खेत-खलियान सब डूबे हुए हैं। कहा जा रहा है कि 50 साल में पहली बार केरल इतनी भयंकर बाढ़ और बरसात के बीच फंसा है।

मानसून से तबाहीः 7 राज्यों में अब तक 718 मौत, अगले 72 घंटे नहीं रुकेगी भारी बारिश की रफ्तार

युद्ध स्तर पर चल रहा है बचाव कार्य

सेना भी जुटी बाढ़ में फंसे लोगों के लिए बचाव अभियान चलाया जा रहा है। सेना भी लोगों का रेस्क्यू कर उन्हें सुरक्षित स्थानों तक पहुंचा रही है। 22 विदेशी समेत करीब 60 पर्यटकों इडुक्की के रिजॉर्ट में फंस गए थे उन्हें बाहर निकाल लिया गया। 439 राहत शिविर लगाए गए, जहां 53,502 लोग अपना सिर छिपा रहे हैं। सेना और नौसेना की टीमें बचाव और राहत कार्यों में जुटी हुई हैं

खोले गए 24 बांध

इडुक्की बांध के सभी पांच शटरों से पानी का निर्वहन शुक्रवार को प्रति सेकंड 8 लाख लीटर तक पहुंच गया, चेरुथोनी शहर के अधिकांश हिस्से पानी में डूब गए हैं। पिछले 40 सालों में पहली बार चेरुथोनी बांध के पांचों शटर खोलने पड़े हैं। भूतथंकेतु बांध में पानी के स्तर 1.2 मीटर तक बढ़ा गया है। बताया जा रहा है कि राज्य में 25 बांधों के फाटक खुले गए हैं, जिसके परिणामस्वरूप अधिकांश नदियों में पानी के स्तर में काफी वृद्धि हुई है।

मौसम विभाग ने अगले 48 घंटों में भारी बारिश की संभावना जताई है। साथ ही राज्य के वायनाड, इडुक्की, आलप्पुषा, कोट्टायम, एर्नाकुलम, पलक्कड़, मलप्पुरम और कोझिकोड जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया है। 14 अगस्त तक वायनाड में अलर्ट लागू रहेगा और इडुक्की में 13 अगस्त तक; अन्य जिलों रविवार की सुबह तक सतर्क रहेंगे। कोच्चि अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा के डूबने की आशंका जताई जा रही है। अमरीका ने भी अपने नागरिकों को केरल ना जाने की सलाह दी है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned