केरल में बारिश ने ली 29 लोगों की जान, 54 हजार लोग हो गए बेघर

केरल में बारिश ने ली 29 लोगों की जान, 54 हजार लोग हो गए बेघर

केंद्र सरकार ने मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन को हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया है।

तिरुवनन्तपुरम। केरल में पिछले 48 घंटे से भारी बारिश, बाढ़ और भूस्खलन ने तबाही मचा दी है। हालात बद्तर हो चुके हैं। भारी बारिश और बाढ़ की वजह से मरने वालों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। केरल में बारिश की वजह से मरने वालों की संख्या 29 हो गई है, जो कि शुक्रवार दोपहर तक 26 थी। 3 और लोगों के मारे जाने की खबर है। कई लोग तो अभी भी लापता हैं। इस बार केरल के लोगों पर कुदरत की मार ऐसी पड़ी है जो पिछले 26 साल में कभी नहीं हुई। 50 हजार से ज्यादो लोगों को रेस्क्यू कर राहत कैंपों में पहुंचाया जा चुका है। ये लोग बेघर हो चुके हैं।

केरल में भारी बारिश और बाढ़ से तबाही, कुमारस्वामी ने 10 करोड़ रुपए के राहत पैकेज का किया ऐलान

12 अगस्त को राजनाथ सिंह करेंगे केरल का दौरा

इस बीच सरकारों की तरफ से भी लोगों के लिए हर मदद का इंतजाम किया जा रहा है। राज्य सरकार के साथ-साथ केंद्र सरकार ने भी मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन को हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया है। कहा जा रहा है कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह 12 अगस्त को केरल जा सकते हैं। वो वहां पर हालातों का जायजा लेंगे। राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर कहा है कि गृह मंत्रालय लगातार हालातों पर नजर बनाए हुए हैं। राज्य में लोगों को बचाने का काम लगातार चल रहा है। केरल में पीड़ितों की मदद के लिए कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने भी मदद का हाथ बढ़ाया और राज्य सरकार को 10 करोड़ रुपए का राहत पैकेज दिया है।

केरल में भारी बारिश और भूस्खलन से 24 घंटे में 26 की मौत, 337 फीसदी ज्यादा हुई वर्षा

अगले 24 घंटे भारी बारिश की आशंका

केरल में भारी बारिश और बाढ़ के साथ-साथ इडुक्की बांध को खोले जाने के बाद भी हालात खराब हो गए हैं। इडुक्की बांध को 40 साल बाद खोला गया है, क्योंकी यहां बारिश की वजह से काफी पानी इकट्ठा हो गया था। इडुक्की बांध के सभी पांच गेट खोले जाने के बाद पांच लाख लीटर पानी हर सेकंड निकल रहा है। इससे रिहाइशी इलाकों में पानी बढ़ने का खतरा है। इडुक्की में बीते दो दिन में 10 हजार लोगों को राहत शिविरों में भेजा गया। अगले 24 घंटे में और बारिश होने का अनुमान है।

Ad Block is Banned