जस्टिस दीपक मिश्रा की जगह चेलमेश्वर बन सकते थे सीजेआई, जानिए पूरी कहानी

Kiran Rautela

Publish: May, 18 2018 01:40:36 PM (IST)

Miscellenous India
जस्टिस दीपक मिश्रा की जगह चेलमेश्वर बन सकते थे सीजेआई, जानिए पूरी कहानी

जस्टिस चेलमेश्वर और सर्वोच्च न्यायालय के चार जज पहली बार मीडिया के सामने आए और न्यायपालिका और चीफ जस्टिस के बर्ताव पर कई सवाल उठाए।

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े न्यायालय, सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश जे चेलमेश्वर सुप्रीम कोर्ट को अलविदा कहने वाले हैं। बता दें कि जस्टिस जे चेलमेश्वर सर्वोच्च न्यायालय के दूसरे सबसे बड़े न्यायाधीश हैं। जानकारी के अनुसार न्यायमूर्ति चेलमेश्वर को 22 जून को सेवानिवृत्त होना है। लेकिन 19 मई से उच्चतम न्यायानय में ग्रीष्मावकाश शुरू होने वाले हैं जिसकी वजह से न्यायाधीश जे चेलमेश्वर की विदाई शुक्रवार को ही की जाएगी।

जानें कुछ खास बातें

न्यायाधीश जे चेलमेश्वर का नाम अभी हाल ही में सबसे ज्यादा प्रकाश में आया था। आइए जानते हैं उनके बारे में कुछ खास बातें-

1997 में बने थे एडिशनल जज

जस्टिस चेलमेश्वर सर्वोच्च न्यायालय के दूसरे सबसे बडे़ जज हैं। बता दें कि जब जस्टिस दीपक मिश्रा मुख्य न्यायाधीश बने थे उस समय इनका नाम भी इस पद के लिए आया था। जस्टिस चेलमेश्वर आन्ध्र प्रदेश से ताल्लुक रखते हैं, और कई सालों से विधि के करियर से जुड़े हैं। सर्वोच्च न्यायालय में आने से पहले वो केरल और गुवाहाटी हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस भी रह चुके हैं। 1997 में वो आन्ध्र प्रदेश हाईकोर्ट के एडिशनल जज बनाए गए।

भारतीय इतिहास में पहली बार हुई ये घटना

बता दें कि इसी साल जनवरी में 64 साल के जस्टिस चेलमेश्वर और सर्वोच्च न्यायालय के चार जज पहली बार मीडिया के सामने आए और न्यायपालिका और चीफ जस्टिस के बर्ताव पर कई सवाल उठाए। जस्टिस चेलमेश्वर के घर पर ही संवाददाताओं को बुलाया गया था और कई मुद्दों पर सवाल उठाए गए। इसी मामले के बाद से जस्टिस चेलमेश्वर सबके सामने आए।

जस्टिस के एम जोसफ मामला: क्या सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम फिर से भेजेगा नाम !

आधार कार्ड को लेकर दिया अहम फैसला

पिछले साल जस्टिस चेलेमेश्वर और सर्वोच्च न्यायालय की तीन न्यायाधीशों की पीठ ने आधार कार्ड को लेकर एक अहम फैसला सुनाया था। जिसके तहत आदेश दिया गया कि आधार कार्ड के ना होने पर किसी भी भारतीय नागरिक को बुनियादी सेवाओं और सरकारी सब्सिडी से वंचित नहीं किया जा सकता है।

न्यायमूर्ति जे चेलमेश्वर की विदाई आज, क्या सीजेआई दीपक मिश्रा के साथ इस प्रावधान को करेंगे पूरा?

मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा से है टकराव

इसके अलावा कोलेजियम के मुद्दे पर भी जस्टिस चेलेमेश्वर ने कई बार कड़ा रूख अपनाया। गौरतलब है कि मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा के साथ भी उनके बहस की खबरों से विधि के गलियारे काफी गर्म रहे हैं। साथ ही न्यायपालिका की पारदर्शिता के मुद्दे पर आवाज उठाने में भी उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned