DGP से लेकर गवर्नर तक, जानें CBI के पूर्व निदेशक अश्विनी कुमार के बारे में कुछ दिलचस्प बातें?

  • CBI के पूर्व निदेशक अश्विनी कुमार ने की खुदकुशी
  • DGP से लेकर राज्यपाल बनने तक का रहा उनका करियर
  • टेलीविजन शो 'टॉम एंड जेरी' अश्विनी कुमार को था बेहद पसंद

नई दिल्ली। सीबीआई ( CBI ) के पूर्व निदेशक अश्विनी कुमार ( Ashwini Kumar ) ने बुदधार शाम शिमला स्थित अपने घर में खुदकुशी कर ली। अश्विनी कुमार देश के जाने-माने चेहरा था। सुसाइड नोट में अश्विनी कुमार ने लिखा कि वह बीमारी के कारण यह कदम उठा रहे हैं। इतना ही नहीं अश्विनी कुमार के जाननेवालों का कहना है कि वह काफी जिंदादिल इंसान थे और हमेशा मुस्कुराते रहते थे। हम आपको अश्विनी कुमार के बारे में कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं, जिनके बारे में शायद बहुत कम लोग ही जानते होंगे।

पढ़ें- पूर्व CBI निदेशक के सुसाइड नोट से बड़ा खुलासा, लिखा- अगली यात्रा पर निकल रहा हूं

बेहद दिलचस्प रहा अश्विनी कुमार का करियर

अश्विनी कुमार 1973 बैच के IPS ऑफिसर थे। उनका करियर काफी लंबा रहा और विभिन्न पदों पर उन्होंने देश की सेवा की है। 69 साल के अश्विनी कुमार वर्तमान में अपने बेटे के साथ शिमला में रहते थे। अश्विनी कुमार अगस्त 2006 से लेकर जुलाई 2008 तक हिमाचल प्रदेश के DGP रहे। 2008 में अचानक उन्हें CBI का निदेशक बना दिया गया। यह खबर जैसे ही अश्विनी कुमार को मिली वह हैरान रह गए थे। एक रिपोर्ट के अनुसार, जिस समय अश्विनी कुमार को सीबीआई निदेशक नियुक्त किया गया, उस समय उनके दो अफसर इस पोस्ट को पाना चाहते थे। लेकिन, उन्हें यह जिम्मेदारी सौंपी गई। गौरतलब है कि जिस समय अश्विनी कुमार को सीबीआई निदेशक बनाया गया, उस समय देश में आरुषि हत्याकांड काफी सुर्खियों में था। CBI ही इस मामले की डील कर रही थी। लिहाजा, इस केस से वह काफी सुर्खियों में रहे। सीबीआई निदेशक के बाद उन्हें नागालैंड का राज्यपाल नियुक्त किया गया था। अश्विनी कुमार जुलाई 2013 से लेकर दिसंबर 2013 तक नागालैंड के राज्यपाल रहे। अश्विनी कुमार के कई सहयोगियों का कहना है कि वह काफी मृदुभाषी थे और हमेशा मुस्कुराते रहते थे।

अश्विनी कुमार को टॉम एंडे जेरी शो काफी पसंद था

अश्विनी कुमार के कार्यकाल के दौरान ही आरुषि हत्याकांड को लेकर क्लोजर रिपोर्ट तैयार की गई थी। जिसके आधार पर आरुषि के माता-पिता की गिरफ्तारी हुई थी। इतना ही नहीं अश्विनी कुमार को राष्ट्रपति पदक तक मिल चुका है। एक मीडिया हाउस को दिए इंटरव्यू में अश्विनी कुमार ने कहा था कि उन्हें टेलीविजन शो टॉम एंड जेरी काफी पसंद है। उन्होंने कहा था कि पुलिस और अपराधियों के बीच चूहे और बिल्ली का खेल है,जिसमें पुलिस बिल्ली के रोल में और अपरोधी चूहे की तरह होते हैं। पूर्व सीबीआई निदेशक ने कहा था कि मैं टॉम एंड जेरी के गेम में हूं और मुझे केवल अपना काम करना है। उनके निधन के उनके करीबियों को काफी झटका लगा है।

Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned