लॉकडाउनः 'सोशल डिस्टेंसिंग' के चलते भाई की मौत के बाद घर के बाहर लिखा, शोक जताने ना आए कोई

  • Lock Down के बीच हरियाणा से आई दिल छूने वाली खबर
  • भाई की मौत के बाद शख्स ने घर के बाहर दिया बड़ा संदेश
  • सोशल डिस्टेंसिंग के चलते शोक जताने ना आए कोई
  • यूपी में अंतिम यात्रा में लोगों ने बनाई सामाजिक दूरी

नई दिल्ली। कोरोनावायरस ( Coronavirus ) के खिलाफ पूरा देश जंग लड़ रह है। 21 दिन के लॉकडाउन के बीच हर जरूरी काम रोककर देशवासी एकजुट होकर घरों में बंद हैं, ताकि जल्द से जल्द कोरोना जैसी महामारी को भगाया जा सके। इस बीच हरियाणा ( Haryana ) के हिसार ( Hissar ) से दिल छू लेने वाली खबर सामने आई है।

हरियाणा के हिसार में एक शख्स ने अपने भाई की मौत के बाद घर के बाहर एक संदेश लगाया है। इस संदेश को पढ़कर हर किसी की आंखें नम हो गई हैं।

कोरोना वायरस ने लगभग पूरी दुनिया की रफ्तार पर ब्रेक लगा दिया है। हर जरूरी काम रोक कर हर कोई बस इस महामारी से निपटने में जुटा है।

तेजी से बदल रही है मौसम की चाल, कई राज्यों में बढ़ सकती है मुश्किल

message.jpg

इन सबके बीच कुछ लोगों का अद्भूत जज्‍बा दिल को छू लेने वाला है। हिसार में एक व्‍यक्ति ने अपने भाई के निधन के बाद घर के बाहर संदेश लगा दिया- कृपया कोई शोक व्यक्त करने न आएं। इससे लॉक डाउन तोड़कर सड़कों पर निकलने वालों को सीखना चाहिए।

कोरोना वायरस Covid-19 के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में 21 दिनों का लॉक डाउन है।

हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहालाल ने भी लोगों से लॉक डाउन का पूरी तरह पालन करने की अपील की। इसके बावजूद हर रोज कुछ लोग सड़कों पर निकल रहे हैं।

ऐसे में हिसार से आई ये खबर हर उस व्यक्ति को सीख देती है जो लॉकडाउन को अभी भी गंभीरता से नहीं ले रहा है।

हिसार के सेक्टर 9-11 निवासी मुकेश गोयल ने अनोखा उदाहरण पेश किया है। उन्‍होंने सोशल डिस्टेंस के लिए संदेश दिल छू लेने वाले अंदाज में दिया है।

हाल ही में मुकेश गोयल के भाई संजय गोयल का फूड प्वायजनिंग के कारण निधन हो गया।

आम तौर पर किसी का निधन होने के बाद लोग घर में शोक जताने आते हैं। कोरोना के कारण पैदा हालात और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सोशल डिस्‍टेंस की अपील को ध्‍यान में रखकर मुकेश गोयल ने बड़ा फैसला किया।

लोग शोक जताने न आएं और लोगों का जमावड़ा न लगे इसके लिए मुकेश गोयल ने घर के बाहर नोटिस लगा दिया है।

_1585291830.jpg

इसी तरह उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में अंतिम यात्रा के दौरान लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया। शुक्रवार सुबह चौक क्षेत्र में एक बुजुर्ग का निधन हो गया। अंतिम संस्कार में गिनती के लोग शामिल हुए। बाकी लोगों को भीड़ लगाने से मना कर दिया गया।

अंतिम यात्रा के दौरान कंधा देने वालों ने मास्क लगाया और जो लोग यात्रा में शामिल थे उन्होंने 1 मीटर से अधिक दूरी बनाई।

इसके बाद करीब 2 किलोमीटर दूर गर्रा श्मशान घाट तक अंतिम यात्रा गई, वहां श्मशान घाट के अंदर भी सभी एक दूसरे से दूरी बनाए रहे और दूर-दूर बैठे रहे।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned