चेन्नईः अम्मा कैंटीन में 3 मई तक मुफ्त मिलेगा भर-पेट भोजन, 407 केंद्रों पर शुरू की सुविधा

  • Lockdown में गरीब और मजूदरों के लिए आगे आई सरकार
  • 3 मई तक मुफ्त दिया जाएगा भर-पेट भोजन
  • GCC शहर के 407 अम्मा कैंटीन केंद्रों पर देगा सुविधा

नई दिल्ली। देशभर में बढ़ रहे कोरोना वायरस ( Coronavirus in india ) के खतरे के बीच लॉकडाउन ( Lockdown ) 3 मई तक बढ़ा दिया गया है। यही वजह है कि गरीब और मजदूर वर्ग काफी परेशान है। खास तौर पर खाने-पीने के अभाव में बड़ा वर्ग संकट का सामना कर रहा है। ऐसे में देश के दक्षिण राज्य से एक राहत भरी खबर सामने आई है।

तमिलनाडु ( Tamil Nadu ) के चेन्नई ( Chennai ) में अब भोजन की ऐसे ही समस्या से जूझ रहे लोगों को राहत देने के लिए अम्मा कैंटीन ( Amma Canteen ) और ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन ( GCC ) साथ आए हैं। GCC ने अम्मा कैंटीन के सभी 407 केंद्रों पर लॉकडाउन अवधि यानी 3 मई तक मुफ्त भोजने देने की व्यवस्था की है।

WHO ने पूरी दुनिया को दी चेतावनी, कोई गलती ना करें, लंबे समय तक साथ रहेगा कोरोना वायरस

GCC और अम्मा कैंटीन मिलकर मजदूरों और गरीबों को मुफ्त भोजन उपलब्ध कराएंगे। खास बात यह है कि इसका खर्च सत्ताधारी दल अन्नाद्रमुक की स्थानीय इकाई वहन करेगी।

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंदों की सहायता के लिए यह कदम उठाया गया है। जीसीसी के प्रमुख ने बताया कि लोगों और कारोबारियों की ओर से कॉरपोर्ट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी ( CSR ) गतिविधि के तहत दान की गई राशि की बदौलत ये संभव हो पाया है।

इसका फायदा उस बड़े तबके को मिलेगा जिनकी आजीविका लॉकडाउन के कारण छिन गई है। अम्मा कैंटीन को चलाने के लिए रोजाना 17 लाख रुपए की लागत आती है। दान की गई राशि की वजह से इसे आसानी से 3 मई तक चलाया जा सकेगा।

मौसम विभाग ने दी भारी बारिश की चेतावनी, जानें आपके इलाके में कैसा रहेगा मौसम का हाल

कैंटीन में मिलने वाला भोजन
अम्मा कैंटीन में इडली, वैरायटी चावल, पोंगल, सांभर और चपाती भोजन में दी जाती है।

Coronavirus in india COVID-19
Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned