नए अंदाज में खुलेंगे कपड़ों के दुकान, नहीं मिलेगी ट्रायल की सुविधा

  • Cloth Market Will Open Soon : इंदौर के सीतलामाता बाजार एसोसिएशन ने लॉकडाउन के दौरान नए अंदाज में दुकानों को खोलने पर किया विचार-विमर्श
  • कपड़ों की बिक्री के लिए ऑनलाइन डिलीवरी पर किया जा रहा है फोकस

By: Soma Roy

Published: 28 May 2020, 04:01 PM IST

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन (Lockdown) लगातारी जारी है। बताया जा रहा है कि आने वाले दिनों में भी इसे बढ़ाया जा सकता है। ऐसे में रोजी-रोटी चलाने के लिए कुछ मार्केट्स में कपड़ों के दुकान (Cloth Shop) को नए अंदाज में खोलने का तय किया है। इसके तहत अब ग्राहकों को रेडीमेड गारमेंट्स को पहनकर देखने यानी ट्रायल की सुविधा नहीं मिलेगी। अगर मजबूरी में कोई इसे ट्राई करके देखता भी तो उन कपड़ों को दुकानदार क्वारंटीन करेंगे।

इंसानों के अलावा अब कपड़ों को भी क्वारंटीन किया जाएगा, ये बात सुनने में भले ही अजीब लगे, लेकिन ये सच है। दरअसल इंदौर के सीतलामाता बाजार एसोसिएशन ने तय किया है कि वे गारमेंट्स के ट्रायल की सुविधा नहीं देंगे। साथ ही अगर कोई ग्राहक इन्हें पहनकर देखता भी है तो वे उन कपड़ों को अलग हटाकर क्वारंटीन कर लेंगे। साथ ही उन्हें पराबैंगनी किरणों (यूवी रेज) में रखकर संक्रमण मुक्त करेंगे।

सीतलामाता बाजार को इंदौर के सबसे पुराने मार्केट के तौर पर जाना जाता है। इसलिए वहां के दुकानदारों ने नए अंदाज में दुकानों को खोलने का तय किया है। एसोसिएशन के मुताबिक वैसे तो किसी भी कस्टमर को कपड़े पहनकर देखने की अनुमति नहीं दी जाएगी। अगर बेहद जरूरी भी होता है तो सीमित संख्या में उपभोक्ताओं को इसकी अनुमति दी जाएगी।

स्टीम प्रेस तकनीक का होगा इस्तेमाल
वैसे तो कपड़ों को पहनकर देखने की अनुमति नहीं होगी। मगर किसी ने पहन के देखा भी तो कपड़ों को पहले यूवी रेज से संक्रमण मुक्त किया जाएगा। इसके बाद इनमें स्टीम की जाएगी। जिससे गर्मी से वायरस पूरी तरह से नष्ट हो सके।

ऑनलाइन डिलिवरी पर जोर
कोरोना संक्रमण के दौरान रोजी-रोटी भी चलती रहे और संक्रमण का भी खतरा न हो इसके लिए दुकानदार ऑनलाइन डिलिवरी पर जोर दे रहे हैं। वे ग्राहकों को वॉट्सएप कॉलिंग के जरिए कपड़े पसंद करने का अवसर देंगे। साथ ही कपड़े को ऑनलाइन डिलिवर करने की व्यवस्था करेंगे। इसके अलावा अगर दुकान में ग्राहक आते हैं तो सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन किया जाएगा।

सैनिटाइजेशन पर फोकस
संक्रमण का किसी तरह का खतरा न रहे इसलिए दुकानदार दुकानों में सैनिटाइजेशन कराने का मन बना रहे हैं। साथ ही सेल्समैन और ग्राहकों को मास्क व दस्ताने पहनने के बाद ही दुकान में अंदर आने की अनुमति देंगे।

Soma Roy
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned