लोकसभा में हंगामा करने वाले सदस्यों पर गिरी गाज, स्पीकर ने चार सांसदों को किया निलंबित

संसद के दोनों सदनों में विपक्षी दलों का जोरदार हंगमा हुआ।

नई दिल्ली: संसद के दोनों सदन में आज फिर विपक्षी दलों का जोरदार हंगामा हुआ। सोमवार को लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पर संसद में झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए सदन में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने रफाल सौदे पर एक बार फिर जेपीसी मांग की है। उसके बाद विपक्षी दलों ने हंगामा शुरू कर दिया। स्पीकर सुमित्रा महाजन ने हंगामा शांत कराने की कोशिश की। लेकिन सांसद नहीं माने फिर स्पीकर सुमित्रा महाजन ने AIADMK के तीन और टीडीपी के एक सांसद को संसद की कार्यवाही से तत्काल निलंबित कर दिया। पांच दिनों के लिए सांसदों को सस्पेंड किया गया है। सस्पेंड होने वाले सांसदों में AIADMK के पी वेणुगोपाल, केएन रामचंद्रण और के गोपाल है। वहीं टीडीपी के एन शिवप्रसाद हैं।

पिछले दिनों भी सांसद हुए थे निलंबित

गौरतलब है कि 2 जनवरी को भी लोकसभा स्पीकर ने टीडीपी और एआएडीएमके के सांसदों को निलंबित कर दिया था। कावेरी नदी पर बनने वाले डैम और रफाल मुद्दे पर सांसद हंगामा कर रहे थे। विपक्ष ने लोकसभा और राज्यसभा के अंदर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कावेरी नदी पर बांध को लेकर लोकसभा में AIADMK के कुछ सांसद स्पीकर की वेल में आकर हंगामा करने लगे। यहां तक प्रदर्शनकारी सांसदों ने कागज के कुछ टुकड़ों को फाड़कर अध्यक्ष के आसन की तरफ फेंक दिए। इससे नाराज लोकसभा स्पीकर ने सांसदों को जमकर फटकार लगाई। लोकसभा की अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने AIADMK और टीडीपी के 22 सांसदों को पांच दिनों के लिए निलंबित के निर्देश दे दिए।

Prashant Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned