Coronavirus: महाराष्ट्र में बेहद चौंकाने वाला आंकड़ा, 31 से 50 साल के आधे मरीज कोरोना के शिकार

  • महाराष्ट्र ( Maharashtra ) में कोरोना वायरस ( coronavirus ) का तेजी से बढ़ रहा है प्रकोप
  • राज्य में 31 से 50 साल के आधे मरीज कोरोना के शिकार
  • झुग्गी-झोपड़ी और चॉल तक पहुंचा कोरोना का कहर

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस ( coronavirus ) का कहर जारी है। अब तक पांच लाख से ज्यादा लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं और मरने वालों का आंकड़ा 20 हजार के पार पहुंच चुका है। वहीं, भारत ( India ) में भी 700 से ज्यादा लोग इस खतरनाक वायरस से संक्रमित हैं। जबकि, अब तक 16 लोगों की मौत हो चुकी है। भारत में सबसे ज्यादा खतरनाक स्थिति महाराष्ट्र ( Maharashtra ) और केरल में है। अकेले महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 125 को पार कर चुका है। आलम ये है कि स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है। इसी बीच महाराष्ट्र को लेकर जो आंकड़े सामने आए हैं वो बेहद ही चौंकाने वाले हैं। बताया जा रहा है कि राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों में से 31 से 50 साल के आधे मरीज हैं। इस आंकड़े से यह भी बात सामने आ रही है कि युवाओं में भी यह वायरस तेजी से फैल रहा है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना के कुल मामलों में से 31-50 उम्र के आधे कोरोना मरीज हैं। वहीं, सबसे अधिक 31-40 उम्र वर्ग के लोग कोरोना पॉजिटिव हैं। राज्य के 122 कोरोना मरीजों के विश्लेषण से यह बात सामने आई है। मेडिकल एजुकेशन एंड ड्रग विभाग की एक अध्ययन में कहा गया है कि 122 मरीजों में से 33 मरीजों की उम्र 31 से 40 साल के बीच है। जबकि, 21 से 30 और 41 से 50 उम्र के मरीजों की संख्या 24-24 है। वहीं, 51 से 80 साल के मरीजों की संख्या 31 और 1 से 20 साल के मरीजों की कुल संख्या 10 है।

वहीं, महाराष्ट्र में मरीजों की बात करें तो 69 प्रतिशत पुरुष और 31 प्रतिशत महिलाएं इस वायरस के शिकार हैं। इनमें 54 फीसदी मरीज हाल ही में किसी न किसी देश की यात्रा से लौटे हैं। गुरुवार शाम तक राज्यभर में कोरोना वायरस के 3156 सैंपल टेस्ट किए गाए। इनमें से 125 यानी 4 प्रतिशत सैम्पल पॉजिटिव पाए गए हैं। पूरे मामले पर महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि महामारी के 8वें हफ्ते में हमारे यहां 600 से ज्यादा पॉजिटिव मामले थे, लेकिन दूसरे देशों का अनुभव बताता है कि यही वह वक्त है जब कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़ते हैं। यहां आपको बता दें कि महाराष्ट्र में स्थिति बेहद भयावह है।

झुग्गी-झोपड़ी और चॉल तक पहुंचा कोरोना वायरस

महाराष्ट्र की स्थिति का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि मुंबई के यहां से परेल की एक चॉल में रहने वाले एक 65 वर्षीय, कलिना के जम्बलिपाडा स्लम के 37 वर्षीय व्यक्ति में कोरोना पॉजिटिव मिला। इसके अलावा घाटकोपर में झुग्गी झोपड़ी के एक 25 साल का व्यक्ति और उसी झुग्गी की 68 साल की महिला भी कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं। परेल में जिस 65 साल की महिला को कोरोना पॉजिटिव आया वह प्रभादेवी में एक खाने का मेस चलाती है। बीएमसी के लिए यह एक बहुत बड़ी चुनौती है कि हर किसी को ट्रैक कर सके। हालांकि, अभी तक यह जानकारी नहीं मिल पाई है कि मेस में किस-किस ने खाना खाया है। अब बीएमसी के लिए यह बडी़ चुनौती बन गई है कि लॉकडाउन के दौरान इन चारों के संपर्क में जो-जो आए हैं उसे कैसे ढूंढा जाए। साथ ही इन स्लम एरियाओं में सोशल डिस्टेंसिंग किस तरह मेंटेन होगा?

coronavirus
Show More
Kaushlendra Pathak Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned