मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी रमेश उपाध्याय लड़ेंगे लोकसभा चुनाव, हिंदू महासभा देगी टिकट

मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी रमेश उपाध्याय लड़ेंगे लोकसभा चुनाव, हिंदू महासभा देगी टिकट

गौरतलब है कि मालेगांव में 29 सितंबर 2008 को हुए बम विस्फोट में 6 लोग मारे गये थे और 101 अन्य जख्मी हुए थे।

कोलकाता: मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी रिटायर्ड मेजर रमेश उपाध्याय लोकसभा चुनाव लड़ने की इच्छा व्यक्त की है। उन्होंने कहा है कि पश्चिम बंगाल के जाधवपुर संसदीय क्षेत्र से हिंदू महासभा के टिकट पर चुनाव लड़ेंगे। 2008 के मालेगांव ब्लास्ट मामले में कर्नल श्रीकांत पुरोहित आरोपी हैं। जब उन्हें गिरफ्तार किया गया था, तब वह सेना की मिलिटरी इंटेलिजेंस के लिए काम कर रहे थे। गौरतलब है कि बंबई हाईकोर्ट ने मालेगांव विस्फोट मामले के आरोपी मेजर (सेवानिवृत्त) रमेश उपाध्याय को समता के आधार पर जमानत दे दी थी । न्यायमूर्ति रणजीत मोरे और न्यायमूर्ति साधना जाधव की पीठ ने उपाध्याय को एक लाख रुपये के निजी मुचलके और उतनी ही राशि के दो अन्य जमानती पर जमानत दे दी थी। रमेश यूपी के बैरिया विधानसभा क्षेत्र के मूल निवासी हैं। 2012 में भी हिंदू महासभा के टिकट पर चुनाव लड़ा था। गौरतलब है कि मालेगांव में 29 सितंबर 2008 को हुए बम विस्फोट में 6 लोग मारे गये थे और 101 अन्य जख्मी हुए थे।

कर्नल पुरोहित की याचिका खारिज

गौरतलब है कि मंगलवार को मालेगांव ब्लास्ट मामले में सर्वोच्च न्यायालय ने आरोपी कर्नल पुरोहित की आरोप तय करने में स्टे लगाने की याचिका को खारिज कर दिया। सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने इस मामले की एसआईटी से जांच कराने की याचिका पर सुनवाई से ही इनकार कर दिया। सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि पुरोहित अपनी इस अर्जी को ट्रायल कोर्ट में ही दाखिल करें। सुप्रीम कोर्ट से पहले बॉम्बे हाईकोर्ट ने भी कर्नल पुरोहित समेत अन्य की याचिका को खारिज कर दिया था।

पुरोहित ने सुप्रीम कोर्ट से की थी मांग

पुरोहित की याचिका में मांग की गई थी कि निचली अदालत को उन पर आरोप तय किए जाने से रोका जाए। इस पर हाईकोर्ट ने कहा था कि गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम के तहत आरोपों पर फैसला ट्रायल कोर्ट की ओर से ही लिया जाएगा। याचिका में कर्नल पुरोहित ने उनके ऊपर लगाए गए गैरकानूनी गतिविधि निरोधक अधिनियम (यूएपीए) को चुनौती दी थी।

Ad Block is Banned