Lockdown में बच्चों की नहीं हो पा रही था पढ़ाई, मां ने बेच दिया मंगलसूत्र, घर ले आई TV सेट

Highlights
- कर्नाटक (Karnataka) के गडग (Gadag) में, जहां एक मां ने अपने बच्चों की पढ़ाई के लिए टेलीविजन (Television) खरीदने के लिए अपना मंगलसूत्र (Mangalsutra) गिरवी रख दिया।
- लॉकडाउन (Lockdown) के चलते काफी समय से स्कूल (School) और कॉलेज (College) महीनों से बंद है और ऐसे में बच्चों की पढ़ाई ऑनलाइन (Online education) के जरिए चल रही है
- लंबे समय से बच्चे ऑनलाइन क्लासेस (Online Class) के जरिए पढ़ाई पूरी कर रहे हैं

नई दिल्ली. दुनिया में अगर सच्चा प्यार कोई करता है तो वह सिर्फ मां (Mother love) होती है, जो अपने बच्चे से बिना स्वार्थ के प्यार करती है। एक एेसी ही कहनी देखने को मिली है कर्नाटक (Karnataka) के गडग (Gadag) में, जहां एक मां ने अपने बच्चों की पढ़ाई के लिए टेलीविजन (Television) खरीदने के लिए अपना मंगलसूत्र (Mangalsutra) गिरवी रख दिया।

टीवी के जरिए हो रही है पढ़ाई

दरअसल, लॉकडाउन (Lockdown) के चलते काफी समय से स्कूल (School) और कॉलेज (College) महीनों से बंद है और ऐसे में बच्चों की पढ़ाई ऑनलाइन (Online education) के जरिए चल रही है। लंबे समय से बच्चे ऑनलाइन क्लासेस (Online Class) के जरिए पढ़ाई पूरी कर रहे हैं।

वहीं कर्नाटक सरकार (Government of Karnataka) ने बच्चों को टीवी के जरिए पढ़ाई कराने का फैसला लिया है। ऐसे में इस गरीब मां के पास टीवी ना होने के चलते महिला ने अपना मंगलसूत्र गिरवी रख दिया, ताकि बच्चों की पढ़ाई चालू रहे।

मंगलसूत्र को रख दिया गिरवी

महिला का नाम कस्तूरी है। वह बेहद गरीब है। जिसके जलते बच्चों की पढ़ाई के लिए उसने अपनी सुहाग की निशानी मंगलसूत्र को तक गिरवी रख दिया। मंगलसूत्र गिरवी रखने के बाद से जो पैसे मिले नहीं लाने उस पैसे से टीवी सेट खरीदनी है।

खरीद लिया टीवी सेट

गडग के नागानुर गांव में रहने वाली कस्तूरी चलवदी ने अपने चार बच्चों की पढ़ाई के लिए 12-ग्राम सोने के मंगलसूत्र को एक टेलीविजन सेट खरीदने के लिए गिरवी रखा दिया। उसने ऐसा इसलिए किया ताकि बच्चे दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाली कक्षाओं को देख कर पढ़ सकें। जैसे ही इस बात की जानकारी तहसीलदार को हुई उन्होंने अधिकारियों को गांव में इसकी जांच करने के लिए भेज दिया।

शख्स ने लौटा दिया मंगलसूत्र

खास बात यह थी कि जिस व्यक्ति ने पैसे उधार देने के लिए मंगलसूत्र गिरवी के लिए लिया था वो उसे वापस करने के लिए तैयार हो गया। उसने परिवार से कहा कि जब भी वे पैसा वापस करने में सक्षम हो तो लौटा दें।

दिहाड़ी मजदूर है पति

कस्तूरी नाम की महिला कहती हैं कि टीचर ने हमें टीवी खरीदने के लिए कहा था लेकिन हमारे पास पैसा नहीं था। मैं अपने बच्चों को रोज पड़ोसी के घर भी नहीं भेज सकती थी। इन तमाम मजबूरियों के चलते मैंने टीवी खरीद लिया। जानकारी के मुताबिक महिला का पति मुत्तप्पा दिहाड़ी मजदूर है। कोरोना के कारण उन्हें कोई काम नहीं मिल रहा था। उनके बच्चे कक्षा 7 और 8 में पढ़ रहे हैं और वो क्लास नहीं कर पा रहे थे। उनकी बड़ी बेटी की शादी हो चुकी है।

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned