नक्‍शा विवाद: राजीव धवन के खिलाफ हिंदू महासभा ने बार काउंसिल में की शिकायत, कार्रवाई की मांग

  • नक्शा फाड़ने के मामले में एआईएचएम ने दिया तूल
  • राजीव धवन ने सुप्रीम कोर्ट में फाड़ा था नक्शा
  • महंत रामविलास वेदांती ने भी साधा निशाना

नई दिल्‍ली। सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या जमीन विवाद पर सुनवाई के दौरान बुधवार को मुस्लिम पक्ष के वरिष्‍ठ अधिवक्‍ता राजीव धवन द्वारा नक्शा फाड़ने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। यह मामला अब बार काउंसिल ऑफ इंडिया तक पहुंच गया है। अखिल भारतीय हिंदू महासभा ( एआईएचएम ) ने राजीव धवन द्वारा कोर्टरूम में नक्शा फाड़ने की शिकायत की है।

अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने बार काउंसिल ऑफ इंडिया को इस मुद्दे पर शिकायत लिखी है। हिंदू महासभा ने मांग की है कि बार काउंसिल राजीव धवन के मामले को गंभीरता से ले और सख्‍त कार्रवाई करे।

जम्‍मू-कश्मीर: फारूक अब्दुल्ला की बहन और बेटी को मिली जमानत, दो दिन से थी नजरबंद

इससे पहले राम जन्मभूमि न्यास के महंत रामविलास वेदांती ने मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन पर निशाना साधा है। वेदांती ने कहा कि राजीव धवन ने कोर्ट, संविधान और जजों का अपमान किया है। वेदांती ने कहा कि उन्होंने जो भी किया वह भारत के कल्चर के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि मैंने पुलिस स्टेशन को इस बारे में बताया है और वह इस मामले में FIR भी दर्ज करा सकते हैं।

राजीव धवन ने नक्शा क्यों फाड़ा?

बता दें कि बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में जब हिंदू महासभा के वकील ने किताब और एक नक्शा पेश किया तो राजीव धवन भड़क गए थे। उन्होंने तब उस नक्शे को फाड़ दिया और पांच टुकड़े कर दिए। जब इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में चर्चा हुई तो राजीव धवन ने कहा कि उन्होंने नक्शा चीफ जस्टिस के कहने पर फाड़ा था।

Indo-Pak बॉर्डर पर तैनात होगा एंटी ड्रोन सिस्टम, हवा में दुश्मन के अरमानों को कर देगा ध्‍वस्‍त

जबकि हिंदू महासभा के वकील विकास सिंह जब सीजेआई को पर्चे दिखा रहे थे तब राजीव धवन ने नक्शा छीन लिया। उसके बाद राजीव धवन ने कहा कि वह इस पर जवाब नहीं देंगे। इस पर चीफ जस्टिस ने उनसे कहा कि आप चाहे तो इसे फाड़ दें। तभी राजीव धवन ने नक्शे को फाड़ दिया।

Show More
Dhirendra
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned