MEA : केंद्र ने 279 मीट्रिक टन खाद्य सामग्री सूडान, जिबूती और इरिट्रिया को मुहैया कराने का लिया फैसला

 

  • सूडान में बाढ़ और कोरोना महामारी से हालत खराब।
  • केंद्र सरकार ने लिया बड़े पैमाने पर खाद्य सामग्री मुहैया कराने का फैसला।

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ( Central Government ) भीषण बाढ़ और कोरोना वायरस महामारी से जूझ रहे सूडान, जिबूती और इरिट्रिया को बड़े पैमाने पर सहायता मुहैया कराने का फैसला लिया है। विदेश मंत्रालय ने इस बारे में बताया है कि भारत सरकार ने प्राकृतिक आपदाओं ( natural calamities ) और कोविद-19 ( Covid-19 ) से जूझ रहे सूडान, दक्षिण सूडान, जिबूती और इरिट्रिया को 270 मीट्रिक टन खाद्य समग्री मुहैया कराने का फैसला लिया है। इससे प्राकृतिक आपदा से पीड़ित इन देशों के लोगों को राहत मिलेगी।

बाढ़ और कोरोना से हालात खराब

आपको बता दें कि पिछले कुछ दिनों से सूडान सहित जिबूती और इरिट्रिया के लोग मुश्किल हालात से जूझ रहे हैं। इन देशों में पिछले कई दिनों की रिकॉर्ड तोड़ मूसलाधार बारिश हो रही हैं। इसके साथ ही कोरोना वायरस संक्रमण के मामले भी बड़े पैमाने पर सामने आए हैं। यही वजह है कि बारिश की वजह से आई बाढ़ के कारण सूडान ( Sudan ) में तीन महीने की स्‍टेट इमरजेंसी घोषित करनी पड़ी है।

सूडान के आंतरिक मंत्रालय ने सोशल मीडिया के जरिए जानकारी दी है कि वर्तमान हालात से निपटने के लिए तीन महीने के आपातकाल की घोषणा की गई है।

Coronavirus Pandemic
Show More
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned