बारिश की वजह से देश के प्रमुख जलाशयों में पिछले सप्ताह से है ज्यादा पानी: जल मंत्रालय

बारिश की वजह से देश के प्रमुख जलाशयों में पिछले सप्ताह से है ज्यादा पानी: जल मंत्रालय

जल संसाधन मंत्रालय ने कहा कि देश के 91 जलाशयों में 77.554 अरब घन मीटर पानी है। यह पीछले शाल के मुकाबले ज्यादा है।

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने कहा कि लगातार हुई बारिश से इस सप्ताह देश के प्रमुख जलाशयों में पानी के स्तर में सुधार आया है। पिछले सप्ताह जहां प्रमुख जलाशयों की क्षमता का 45 फीसदी पानी था, वहां अब 48 फीसदी पानी हो गया है। बता दें कि केरल में बुधवार से हुई मूसलधार बारिश के कारण आई बाढ़ में भारी जान-माल की क्षति हुई है और राज्य में पहली बार 24 बांधों को खोलना पड़ा है। फिलहाल अभी केरल की हालत पहले से बेहतर है।

यह भी पढ़ें-मोदी सरकार का दावा: चार साल 3 महीने में 2574 किलोमीटर नई रेल लाइन बिछाई गई

देश के 91 जलाशयों में 77.554 अरब घन मीटर पानी

जल संसाधन मंत्रालय की ओर से शुक्रवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार, देश के 91 जलाशयों में 77.554 अरब घन मीटर है जो कि इनकी क्षमता 48 फीसदी है। पिछले सप्ताह इन जलाशयों में इनकी क्षमता का 45 फीसदी पानी था। मंत्रालय ने एक विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा कि देश के 91 प्रमुख जलाशयों में पानी के स्तर में तीन फीसदी की वृद्धि हुई है।

यह भी पढ़ें-VIDEO: अब दिल्ली में अावारा कुत्तों और बंदरों को संभालेंगे आप विधायक

जलग्रहण की क्षमता 161.993 अरब घनमीटर

मंत्रालय के मुताबिक इन 91 जलाशयों में जलग्रहण की क्षमता 161.993 अरब घनमीटर है, जबकि देश में अनुमानित 257.812 अरब घन मीटर पानी की क्षमता की आवश्यकता है। केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) के अनुसार ओडिशा, त्रिपुरा, छत्तीसगढ़, आंध्रप्रदेश और तेलंगाना (दोनों राज्यों की दो संयुक्त परियोजना), कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु के जलाशयों में पिछले साल के मुकाबले बेहतर जलग्रहण है।

यह भी पढ़ें-अमित शाह: जिनके पास जॉब नहीं उनकी बातों पर ध्यान नहीं देते

इन राज्यों के जलाशयों का जलस्तर घटा

आयोग ने बताया कि महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, राजस्थान, झारेखंड, पश्चिम बंगाल, गुजरात, उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश के जलाशयों में पिछले साल के मुकाबले जल स्तर में कमी आई है। ये समस्या की बात है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned